BSF ने इंटरनेशनल बॉर्डर पर बढ़ाई चौकसी, सांबा जैसे और सुरंग का लगा रहे पता

इस सुरंग में कुछ पैरों के निशान भी मिले हैं. इस सुरंग का दूसरा हिस्सा पाकिस्तान में है.

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पुलिस के मुताबिक, जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़े चारों आतंकी सुरंग के रास्ते भारत में जम्मू के सांबा सेक्टर (Samba Tunnel) में दाखिल हुए. वहां से उन्होंने कश्मीर जाने के लिए चावल से भरे ट्रक में शरण ली थी.

  • Share this:
    श्रीनगर. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा (International Border) पर रविवार को बीएसएफ (BSF) के जवानों ने 150 फीट लंबी भूमिगत सुरंग (Samba Tunnel) का पता लगाया है. ऐसा शक है कि इस सुरंग का इस्तेमाल जैश ए मोहम्मद के आतंकवादियों के घुसपैठ के लिए किया जाता था.

    2020 में ही इंटरनेशनल बॉर्डर पर मिली यह तीसरी अंडरग्राउंड टनल है. यह बीएसएफ के लिए जम्मू में पाकिस्तान से सटी 198 किलोमीटर लम्बी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बड़ी चिंता का विषय है. पाकिस्तान ने घुसपैठ करवाने की अपनी स्ट्रेटेजी बदल ली है और बॉर्डर पर बीएसएफ की बढ़ती अलर्टनेस के चलते अब जमीन के नीचे से घुसपैठ करवाई जा रही है. ऐसे में भारतीय सेना (Indian Army) ने इंटरनेशनल बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है. सुरक्षाबल ऑपरेशन चलाकर इस तरह के और सुरंग का पता लगा रहे हैं.

    एंटी टनल मेकेनिज्म के जरिए सुरंग का पता लगा रही है बीएसफ
    बीएसफ अब नए बॉर्डर मैनजेमेंट सिस्टम के तहत पाकिस्तान की नई घुसपैठ स्ट्रेटेजी को जवाब देने के लिए नए सिस्टम से काम करेगी. बीएसफ ने एंटी टनल केनिज्म पर काम शुरू कर दिया है. इसमें मैन और मशीनरी दोनों का इस्तेमाल होगा. फोर्स इस पर काम कर रही है. इसके तहत सीमा पर बनाई गई अंडरग्राउंड टनल को खोजा जाएगा. इससे टनल के जरिए होने वाली आतंकी घुसपैठ को रोका जा सके.

    बीएसफ के डीआईजी का कहना है कि हम एंटी टनल मेकेनिज्म पर काम कर रहे हैं और जल्द ही इस पर ग्राउंड स्तर पर काम शुरू किया जाएगा. हम अपनी स्ट्रेटेजी को पब्लिक डोमेन में नहीं ला सकते हैं, लेकिन इतना साफ है कि एंटी टनल ऑपरेशन को तेज किया जाएगा. हालांकि, बीएसएफ पहले भी ऐसी टनल खोजने में सफल रही है. बीएसएफ इस काम में स्थानीय लोगों की भी मदद लेगी.


    सांबा सेक्टर में मिले सुरंग में पाए गए थे पाकिस्तान में बने बिस्कुट के रैपर
    पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह के मुताबिक, सांबा सेक्टर में मिले सुरंग में कुछ पैरों के निशान भी पाए गए हैं. सुरंग का दूसरा हिस्सा पाकिस्तान में है. सुरक्षाबलों को यहां कुछ बिस्कुट के पैकेट मिले हैं, जिनपर मास्टर कुजीन कपकेक लिखा हुआ है. ये लाहौर का प्रोडक्ट है. इसपर मैन्यूफैक्चरिंग डेट मई 2020 लिखी हुई है और एक्सपाइरी डेट 17 नवंबर 2020 है. सुरक्षाबलों को शक है कि सुरंग में जो पैरों के निशान मिले हैं, वो आतंकियों के अलावा पाकिस्तानी रेंजर्स के भी हो सकते  हैं.

    जम्मू-कश्मीर: श्रीनगर के बटमालू में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर, 1 महिला की मौत

    पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि बीएसएफ के महानिरीक्षक, जम्मू सीमांत, एन एस जमवाल और पुलिस महानिरीक्षक, जम्मू क्षेत्र, मुकेश सिंह के साथ मौके का निरीक्षण किया. डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया, 'जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा के पास हाल ही में मुठभेड़ की जांच के बाद सुरंग का पता लगा है. पुलिस ने मुठभेड़ स्थल से मिली कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों को बीएसएफ के साथ साझा किया था, जिसने काफी प्रयासों के बाद सुरंग का पता लगा लिया.'


    इस तरह भारत में घुसे थे आतंकी
    जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक, जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़े चारों आतंकी सुरंग के रास्ते भारत में जम्मू के सांबा सेक्टर में दाखिल हुए. वहां से उन्होंने कश्मीर जाने के लिए चावल से भरे ट्रक में शरण ली. वे चावल की बोरियों के बीच जगह बनाकर बैठ गए और आसानी से कई पोस्ट पार करते हुए गुरुवार सुबह 4.45 बजे नगरोटा बन टोल तक पहुंच गए. उन सभी को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय हाईवे के टोल प्लाजा पर रोक लिया गया. सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में चारों मारे गये. इस गोलीबारी में SOG के 4 जवान घायल हो गए, जिन्हें जम्मू के अस्पताल में भर्ती कराया गया.

    आंतकियों के पास से मिले हथियार और गोला-बारूद
    मारे गये आतंकवादियों के पास से हथियार और गोला-बारूद का बड़ा जखीरा पकड़ा गया था. इसमें 11 एके राइफल, तीन पिस्तौल, 29 ग्रेनेड, 6 यूबीजीएल ग्रेनेड थे. पुलिस के अनुसार ये आतंकवादी केंद्रशासित प्रदेश में 28 नवंबर से आठ चरणों में होने वाले जिला विकास परिषद के चुनावों में खलल डालने की बड़ी साजिश को अंजाम देने आये थे.

    जम्मू कश्मीर: पुलवामा मे मुठभेड़ स्थल के पास सुरक्षाकर्मियों की पिटाई से फोटो जर्नलिस्ट घायल

    गौरतलब है कि पाकिस्तान द्वारा लगातार भारत में घुसपैठ की साजिश रची जा रही है. दो दिन पहले यानी शुक्रवार शाम करीब 6 बजे पाकिस्तान की तरफ से 2 ड्रोन अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार करते हुए भारतीय सीमा में घुस आए थे. हालांकि, बीएसएफ के जवानों की गोलीबारी के बाद वे वापस पाकिस्तान की ओर भागने में सफल रहे. लेकिन इस घटना के बाद बॉर्डर पर जवान कड़ी चौकसी बरत रहे हैं. और पाक की नापाक हरकतों को हर बार नाकाम कर रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.