लाइव टीवी

बीएसएफ का दावा- असम में NRC लागू होने के बाद वापस लौट रहे बांग्लादेशी नागरिक

भाषा
Updated: January 3, 2020, 11:36 PM IST
बीएसएफ का दावा- असम में NRC लागू होने के बाद वापस लौट रहे बांग्लादेशी नागरिक
पिछले दिनों असम में पकड़े गए बांग्लादेशी नागरिकों को बांग्लादेश के अधिकारियों को सौंपा गया. photo.PTI

बीएसएफ (BSF) के महानिरीक्षक ने कहा कि यह संभव है कि भारत के अन्य भागों में रहने वाले बांग्लादेशी असम और त्रिपुरा के रास्ते लौट रहे हैं. सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने शुक्रवार को कहा कि भारत में घुस आए कुछ बांग्लादेशी नागरिक असम (Assam) में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) लागू होने के बाद अपने देश वापस लौट रहे हैं.

  • Share this:
शिलांग. सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने शुक्रवार को कहा कि भारत में घुस आए कुछ बांग्लादेशी नागरिक असम (Assam) में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) लागू होने के बाद अपने देश वापस लौट रहे हैं. बीएसएफ मेघालय फ्रंटियर के महानिरीक्षक कुलदीप सैनी ने कहा कि बांग्लादेश में बेहतर होती आर्थिक स्थिति भी बांग्लादेशी नागरिकों (Bangladesh's citizen) के वापस जाने का कारण है. उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसी सूचना मिली कि बांग्लादेश से अवैध रूप से भारत आए लोग वापस जा रहे हैं और उन्हें वहां हिरासत में ले लिया गया.

सैनी ने कहा कि ऐसी जानकारी है कि पिछले कुछ महीनों में ऐसी गतिविधियां हुई हैं. उन्होंने बताया कि बांग्लादेशी मीडिया में आई खबरें भी देखी थी, जिसमें बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) ने ऐसी गतिविधियों के बारे में बताया था. बीएसएफ के महानिरीक्षक ने कहा कि यह संभव है कि भारत के अन्य भागों में रहने वाले बांग्लादेशी असम और त्रिपुरा के रास्ते लौट रहे हैं. उन्होंने कहा कि हालाँकि इस विषय पर बीजीबी से कोई आधिकारिक रिपोर्ट नहीं मिली है और खबरें सौ प्रतिशत सत्य नहीं भी हो सकती हैं. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश की अर्थव्यवस्था में प्रगति हो रही है इसलिए वहां से पलायन में कमी आई है.

8.53 करोड़ रुपये का ड्रग त्रिपुरा में जब्त
भारत-बांग्लादेश सीमा से सटे एक ठिकाने से बांग्लादेश भेजा जा रहा 8.53 करोड़ रुपये मूल्य का ड्रग सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जब्त कर लिया.

यह भी पढ़ें...
सुलेमानी की मौत के बाद ईरान ने जनरल इस्माइल कानी को बनाया कुद्स फोर्स का नया कमांडर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 3, 2020, 11:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर