• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • त्रिपुरा में भारत-बांग्लादेश की सीमा होगी और सुरक्षित, लेजर की दीवारें खड़ी कर सकता है BSF

त्रिपुरा में भारत-बांग्लादेश की सीमा होगी और सुरक्षित, लेजर की दीवारें खड़ी कर सकता है BSF

भारत-बांग्लादेश सीमा की फाइल फोटो- PTI

भारत-बांग्लादेश सीमा की फाइल फोटो- PTI

बीएसएफ के त्रिपुरा फ्रंटियर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा की रक्षा के लिए सुरक्षा बल अब तक सेंसर उपकरणों , फ्लड लाइटों और रात के वक्त देखने में मदद करने वाले गॉगल्स का इस्तेमाल करते रहे हैं .

  • Share this:
    घुसपैठ की कोशिशों पर लगाम लगाने के लिए बीएसफ भारत - बांग्लादेश सीमा के पास लेजर की दीवारें खड़ी करने पर विचार कर रहा है. यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी. बीएसएफ के त्रिपुरा फ्रंटियर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा की रक्षा के लिए सुरक्षा बल अब तक सेंसर उपकरणों , फ्लड लाइटों और रात के वक्त देखने में मदद करने वाले गॉगल्स का इस्तेमाल करते रहे हैं , लेकिन लेजर की दीवारें खड़ी कर देने से ‘‘संवेदनशील’’ इलाकों में सीमा को पूरी तरह चाक - चौबंद बनाने में मदद मिलेगी.

    उन्होंने कहा , ‘‘हम भारत - बांग्लादेश सीमा के पास प्रभावी सीमा प्रबंधन सुनिश्चित करने के लिए लेजर की दीवारें लगाना चाहते हैं लेकिन अब तक किसी चीज को अंतिम रूप नहीं दिया गया है.’’ अधिकारी ने बताया कि असम के धुबरी के संवेदनशील इलाकों में ऐसी ही एक परियोजना पूरी होने वाली है.

    ये भी पढ़ें: असिस्टेंट कमांडेंट के फेयरवेल से गायब रहे अधिकारी, BSF ने भेजा नोटिस

    उन्होंने कहा , ‘‘धुबरी में परियोजना एक बार सफल हो जाने के बाद बीएसएफ के आला अधिकारी इसकी उपयोगिता का आकलन करेंगे और त्रिपुरा में इस मॉडल को लागू करने को लेकर फैसला करेंगे.’’ वरिष्ठ अधिकारियों से सुगम समन्वय के लिए वास्तविक समय में काम करने वाली संचार प्रणाली भी राज्य में शुरू की गई है. भास्कराचार्य इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस ऐप्लीकेशन एंड जियो - इंफर्मेशन (बीआईएसएजी) के समन्वय से यह प्रणाली शुरू की गई है.

    अधिकारी ने बताया कि त्रिपुरा में 856 किलोमीटर लंबी भारत - बांग्लादेश सीमा में से केंद्र ने 840 किलोमीटर लंबे हिस्से में बाड़ लगाने की मंजूरी दी थी. 750 किलोमीटर लंबी सीमा रेखा सील कर दी गई जबकि कुछ हिस्सों - खासकर सिपाहीजाला जिले के सोनामुरा उप - संभाग - में अब भी बाड़ नहीं लगायी गयी है.

    ये भी पढ़ें: दो दिन में चार बार एवरेस्ट चढ़े BSF जवान, 700 किलो कचरा नीचे लाए

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज