दिल्ली हिंसा: जिस जवान के घर हुआ था हमला, BSF करेगी उसकी मदद, बहन की शादी में देगी ये तोहफा

दिल्ली हिंसा: जिस जवान के घर हुआ था हमला, BSF करेगी उसकी मदद, बहन की शादी में देगी ये तोहफा
मोहम्मद अनीस के घर की फाइल फोटो

दिल्ली स्थित खजूरी खास में हिंसक भीड़ ने BSF जवान अनीस के घर में सिलेंडर फेंक कर कहा- 'इधर आ पाकिस्तानी, तुझे नागरिकता देते हैं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 29, 2020, 5:30 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली.राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) स्थित नॉर्थ ईस्ट दिल्ली  (North East Delhi) मे फैली हिंसा में भीड़ ने बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स के जवान मोहम्मद अनीस का घर जला दिया था. हिंसक भीड़ ने उनके घर में सिलेंडर जला कर फेंक दिया था. बड़ी मुश्किल से पूरा परिवार पैरामिलिट्री फोर्सेज की मदद से वहां से बाहर निकला. अब इस मामले में बीएसएफ ने कहा है कि वह मोहम्मद अनीस की मदद करेगी. बीएसएफ ने कहा है वह अनीस को उनका घर बनाने में भी मदद करेगी.

भीड़ द्वारा की गई हिंसा में अपना सब कुछ खो सके अनीस के घर में इसी साल अप्रैल और मई में शादी थी. बीएसएफ ने फैसला किया है कि वह शादी में भी अनीस की मदद करेगी. मिली जानकारी के अनुसार बीएसएफ जवान को शादी के तोहफे के रूप में कल्याण निधि से 5 लाख भी देगा.

अनीस की बहन की शादी के लिए भी बीएसएफ के जवान फंड इकट्ठा करेंगे. बीएसएफ ने इस हादसे की जानकारी मिलने के बाद अनीस से बात की.



3 लाख नकद भी अन्य कीमती सामान के साथ जल गए
अनीस ने पैरामिलिट्री फोर्स में अपना करियर साल 2013 में शुरू किया और करीब 3 साल जम्मू-कश्मीर में सेवा दी. बता दें जब हिंसक भीड़ ने अनीस के घर पर हमला किया तो उनके साथ 55 वर्षीय पिता मोहम्मद मुनीस, 59 वर्षीय चाचा मोहम्मद अहमद और 18 वर्षीय चचेरी बहन नेहा परवीन घर में थे.

इस घर में दो शादियां होनी थीं. नेहा परवीन की अप्रैल में शादी होनी थी और अनीस को अगले महीने शादी करनी थी. परिवार ने कहा था, 'हमारी जिंदगी भर की जमा-पूंजी, जेवरात, दो सोने के हार, चांदी के गहने सब कुछ चला गया.' उन्होंने कहा, "हमने किस्तों पर जेवर खरीदे थे. हर महीने पैसे देते थे. शादी की व्यवस्था के लिए 3 लाख नकद भी अन्य कीमती सामान के साथ जल गए.'

खजूरी खास एक हिंदू बहुल क्षेत्र है, लेकिन अनीस के परिवार का कहना है कि उनका कोई भी पड़ोसी हमले में शामिल नहीं था. उन्होंने कहा, 'लोग बाहर से आए थे. उनके हिंदू पड़ोसी हिंसक भीड़ से जाने के लिए कह रहे थे.' (जेबा वारसी के इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा: ACP ने बताया उस दिन का हाल, कहा- लगा हमें भी मार डालते
First published: February 29, 2020, 3:30 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading