रेकी और हथियार सप्लाई करने आए पाकिस्तानी ड्रोन को बीएसएफ ने मार गिराया, राइफल भी बरामद

ड्रोन से पाकिस्तान कर रहा ​हथियारों की सप्लाई.
ड्रोन से पाकिस्तान कर रहा ​हथियारों की सप्लाई.

भारतीय सुरक्षाबलों ने (Indian security forces) ने पाकिस्तान (Pakistan) से आए ड्रोन को पास से देखा तो उसमें से एक राइफल, दो मैग्जीन, साठ कारतूस, सात ग्रेनेड और चीन निर्मित चार बैट्री बरामद हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 20, 2020, 11:22 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत (India) और चीन (China) के बीच बढ़े तनाव का फायदा अब पाकिस्तान (Pakistan) उठाने में लगा हुआ है. हालांकि पाकिस्तान की हर साजिश का भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब भी दे रही है. बताया जाता है पाकिस्तान ने अपनी इसी साजिश के तहत भारतीय जवानों की रेकी करने और हथियारों की सप्लाई करने के लिए शनिवार सुबह एक ड्रोन भेजा था. हालांकि बीएसएफ जवानों की मुस्तैदी के चलते उसे मार गिराया गया.

बताया जाता है कि कठुआ के हीरानगर सेक्टर से शनिवार की सुबह करीब 5 बजे सीमा पर एक ड्रोन उड़ता दिखाई दिया. सीमा पर मुस्तैदी से तैनात बीएसएस के जवानों ने उसे मार गिराया. बताया जाता है कि ड्रोन हमले के बाद एक खेत में गिर पड़ा. भारतीय जवानों ने उसे पास से देखा तो उसमें से एक राइफल, दो मैग्जीन, साठ कारतूस, सात ग्रेनेड और चीन निर्मित चार बैट्री बरामद हुई हैं.

जानकारों का कहना है ​कि पाकिस्तान इस तरह के ड्रोन सीमा पर जवानों की हलचल देखने के साथ ही हथियारों की सप्लाई करने के लिए भी करता है. बताया जाता है शनिवार को भी पाकिस्तान एक साथ दो काम करने में लगा था. ड्रोन से बरामद हुआ हथियार किसी अली भाई नाम के व्यक्ति को दिया जाना था. बताया जाता है कि ड्रोन के अंदर से अली भाई के नाम की एक पर्ची भी हथियारों के साथ चिपकी हुई मिली है.



इसे भी पढ़ें :- वायुसेना प्रमुख की चीन को चेतावनी- शहीदों की शहादत बेकार नहीं जाने देंगे
जैश ने हथियार सप्लाई करने का ढूंढा नया तरीका
जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह के अनुसार जनवरी 2020 माह में नगरोटा टोल प्लाजा पर जो आतंकी मारे गए थे, उनसे भी ऐसे ही हथियार बरामद हुए थे. उन्होंने बताया कि आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद अब ड्रोन के जरिए सीमा पर हथियारों की सप्लाई करने में लगा हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज