Home /News /nation /

दो दिन में चार बार एवरेस्ट चढ़े BSF जवान, 700 किलो कचरा नीचे लाए

दो दिन में चार बार एवरेस्ट चढ़े BSF जवान, 700 किलो कचरा नीचे लाए

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

टीम ने दो दुकड़ियों में साउथ छोर से एवरेस्ट की चढ़ाई शुरू की थी. दोनों टीम अपने-अपने साथ 350 किलो कूड़ा नीचे लेकर आई थीं. टीम के इस काम ने एक नया रिकॉर्ड कायम किया है.

    दुनिया की सबसे उंची चोटी माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई करके बीएसएफ टीम ने एक कमाल का रिकॉर्ड कायम किया है. असिस्टेंट कमांडर लवराजसिंह धर्मशक्तू की अगुवाई में बीएसएफ जवानों ने न सिर्फ माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की, बल्कि वे 700 किलो कूड़ा भी नीचे लेकर आए हैं.

    7 सहायकों के साथ 15 लोगों की टीम ने पूरा कूड़ा इकट्ठा करने के लिए 20 और 21 मई को चार बार एवरेस्ट की चढ़ाई की. कमांडर लवराज सिंह ने सीएनएन को बताया कि कूड़े में हमे कुछ फटेहाल तंबू, सिलेंडर और 1972 का एंटीक ऑक्सीजन सिलेंडर भी मिला है, जिससे हमे आज की सुविधाओं में सुधार के लिए मदद मिल सकेगी.

    ये भी पढ़ें: 53 साल की संगीता ने माउंट एवरेस्ट फतह कर बनाया ये रिकॉर्ड

    टीम ने दो टुकड़ियों में साउथ छोर से एवरेस्ट की चढ़ाई शुरू की थी. दोनों टीम अपने-अपने साथ 350 किलो कूड़ा नीचे लेकर आई थी. टीम ने इस काम के ज़रिए एक नया रिकॉर्ड कायम किया. साथ ही सागरमठ प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने जवानों के इन प्रयासों के लिए सराहना सर्टिफिकेट देकर उनका उत्साहवर्धन किया. सागरमठ प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड एवरेस्ट पर प्रदूषण नियंत्रण का काम करता है.

    कमांडर ने बताया, "हम स्वच्छता अभियान के तहत एवरेस्ट को साफ करने के लिए पूरी तैयारी से गए थे. कूड़ा नीचे लाने से पहले हमने बेसकैंप में ही कूड़े को अलग- अलग कर लिया था. साथ ही हमने कूड़े को माकूल तरीके से डिस्पोज भी कर दिया."  एवरेस्ट की ये चढ़ाई कमांडर लवराज सिंह की सातवीं सफल चढ़ाई है.

    ये भी पढ़ें: बछेंद्री पाल...जिन्होंने औरतों के लिए पहाड़ के रास्ते खोले

    बीएसएफ जवानों के इस प्रयास को न सिर्फ फोर्स बल्कि प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी सराहा. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने इन जवानों के सम्मान-समारोह मे कहा, "मैं उस मां को नमन करता हूं जिन्होंने लवराज सिंह जैसे कमांडर को जन्म दिया. जिन्होंने सात बार सफलता से एवरेस्ट की चढ़ाई की और इस बात को भी सुनिश्चित किया कि उनकी टीम भी उनके साथ खड़ी रहे. चढ़ाई के साथ-साथ एवरेस्ट को साफ करने का इरादा एक बड़ी उपलब्धी है."

    Tags: BSF Base camp

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर