Home /News /nation /

किसानों के कल्याण के लिए कटेगी मध्यम वर्ग की जेब!

किसानों के कल्याण के लिए कटेगी मध्यम वर्ग की जेब!

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम बजट प्रस्तुत करते हुए किसानों पर जमकर करुणा दिखाई और उनके कल्याण के लिए तमाम लोकलुभावन ऐलान किए।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम बजट प्रस्तुत करते हुए किसानों पर जमकर करुणा दिखाई और उनके कल्याण के लिए तमाम लोकलुभावन ऐलान किए।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम बजट प्रस्तुत करते हुए किसानों पर जमकर करुणा दिखाई और उनके कल्याण के लिए तमाम लोकलुभावन ऐलान किए।

    नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम बजट प्रस्तुत करते हुए किसानों पर जमकर करुणा दिखाई और उनके कल्याण के लिए तमाम लोकलुभावन ऐलान किए। हालांकि किसानों के कल्याण की सरकारी योजनाओं के लिए पैसा जुटाने का बोझ आम आदमी पर डाला गया है।

    जेटली ने कहा कि कृषि में सुधार और किसानों के कल्याण से संबंधित कार्यकलापों के लिए पैसा जुटाने हेतु सभी कर योग्य सेवाओं पर 0.5 प्रतिशत की दर से उपकर (सेस) लगाया जाएगा। यह व्यवस्था 1 जून 2016 से लागू होगी। यानी सर्विस टैक्स जो अब तक 14.5 फीसदी लगता था वो अब 15 फीसदी लगेगा। जाहिर है इससे तमाम सेवाएं महंगी हो जाएंगी। मतलब आपका टेलीफोन बिल, बाहर खाना-पीना, फिल्म देखना, ब्यूटी पार्लर, जिम महंगे हो जाएंगे।

    देश में शहरों में प्रदूषण और यातायात की स्थिति के मद्देनजर वित्त मंत्री ने पेट्रोल, एलपीजी, सीएनजी की छोटी कारों पर एक प्रतिशत, कतिपय क्षमता वाली डीजल कारों पर 2.5 प्रतिशत और अधिक इंजन क्षमता वाले अन्य वाहनों और एसयूवी पर 4 प्रतिशत अवसंरचना उपकर लगाने का प्रस्ताव रखा है। यानी पर्यावरण की देखभाल के लिए पैसा भी आम आदमी की जेब से निकाला जाएगा।

    Tags: Budget 2016

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर