अपना शहर चुनें

States

बजट सत्र: 30 जनवरी को होगी सर्वदलीय बैठक, पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे अध्यक्षता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फाइल फोटो)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फाइल फोटो)

Union Budget 2021: बजट सत्र की शुरुआत 29 जनवरी से होगी. सत्र के दौरान राज्यसभा की कार्यवाही सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक होगी, जबकि लोकसभा की कार्यवाही शाम चार से रात आठ बजे तक होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 7:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आगामी 1 फरवरी को देश का बजट पेश होने जा रहा है. इसे लेकर 30 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक होगी जिसमें सरकार सत्र संबंधी कामकाज से सभी दलों को अवगत कराएगी. संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने बुधवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि यह बैठक डिजिटल माध्यम से होगी और इस सिलसिले में सभी दलों के सदन के नेताओं को सूचना दे दी गई है.

संसद सत्र की शुरुआत से पहले सर्वदलीय बैठक किए जाने की परम्परा रही है. हालांकि इस बार सत्र की शुरुआत के एक दिन बाद यह बैठक हो रही है. सत्र 29 जनवरी से आरंभ हो रहा है. जोशी ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘सर्वदलीय बैठक 30 जनवरी को होगी, जिसमें सरकार विधायी कामकाज की रूपरेखा पेश करेगी और विपक्ष के सुझावों को भी सुनेगी.’

बजट में दर्जनों आइटम पर बढ़ सकती है इंपोर्ट ड्यूटी, जानें क्या है सरकार का प्लान




बजट सत्र की शुरुआत 29 जनवरी से होगी. सत्र के दौरान राज्यसभा की कार्यवाही सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक होगी जबकि लोकसभा की कार्यवाही शाम चार से रात आठ बजे तक होगी. सत्र पहले चरण में 29 जनवरी 2021 से 15 फरवरी 2021 तक और दूसरे चरण में 8 मार्च 2021 से 8 अप्रैल 2021 तक चलेगा. माना जा रहा है कि इस बैठक में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा, थावरचंद गहलोत, पीयूष गोयल, प्रह्लाद जोशी, अर्जुन मेघवाल, वी मुरलीधरन शामिल होंगे. इसके अलावा एनडीए में शामिल लोगों की बैठक भी 30 जनवरी को ही हो सकती है.

कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी की वजह से बजट 2021 और भी ज्यादा खास हो गया है. इस दौरान भारत ने आर्थिक मोर्चे पर कई उतार-चढ़ाव देखे. इन्हीं हालात के मद्देनजर पीएम मोदी ने कई अलग-अलग सेक्टर्स के लोगों और इकोनॉमिस्ट्स से बात की थी. नीति आयोग की तरफ से आयोजित हुई इस बैठक में कोरोना काल में इकोनॉमिक एजेंडा को लेकर बातचीत हुई थी. हालांकि, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कोरोना के समय में भारत की आर्थिक नीतियों की तारीफ की है.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज