पीलीभीत में एक भैंसे के आतंक से पूरा गांव हलकान, भूखे-प्यासे घर की छतों, टीन शेड पर चढ़े हैं लोग

पीलीभीत में एक भैंसे से पूरा गांव आतंकित है.

पीलीभीत में एक भैंसे से पूरा गांव आतंकित है.

Pilibjit News: बिलसंडा थाना क्षेत्र के तिलसंडा हसौआ गांव में एक भैंसे का आतंक है. भैंसे के हमले में घायल उमेश का कहना है कि मदद के लिए उसने वन विभाग और पुलिस को भी फोन कर सूचना दी. मगर मदद नहीं मिली. वो 36 घंटे से भूखा-प्यासा रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 17, 2021, 2:38 PM IST
  • Share this:
पीलीभीत. उत्तर प्रदेश के पीलीभीत (Pilibhit) में एक भैंसे (Buffalo) की आतंक से लोग हलकान हैं. ये भैंसा अपने  मालिक के यहां से छूटकर खेतों में पहुंच गया. अब उसको पकड़ने जाने वाले पर वह हमला कर देता है. जो भी इसके करीब जाता है, उसे मारकर घायल कर देता है. यही नहीं इस भैंसें का इतना आतंक हो गया है कि लोग अपने घरों की छत पर रहने को मजबूर हो रहे हैं. मामला बिलसंडा थाना क्षेत्र के तिलसंडा हसौआ गांव का है.

पीलीभीत में भैसे के आतंक से ग्रामीण भूखे-प्यासे छतों और टीन शेड के ऊपर रहने को मजबूर हैं. ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस गांव पहुंची तो लोग टीन शेड के ऊपर परिवार सहित चढ़े दिखाई दिए. बताया जा रहा है कि हिंसक भैंसे के हमले में कई लोग गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं. ग्रामीणों का घरों से निकलना दूभर हो गया है. साथ ही काम काज भी प्रभावित हो रहा है. ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस और वन विभाग कुछ नहीं कर रहा है. भैंसे की वजह से गांव में दहशत का माहौल है.

भैंसे को देख भाग खड़े हुए ग्रामीण

ग्रामीणों ने जब हिंसक भैंसे को चीखता चिल्लाता दौड़ता हुआ आते देखा, तभी लोगों ने अपने घरों के दरवाजे बंद कर लिए और छतों पर चढ़ गए. जिन लोगो के कच्चे मकानों में दरवाजा नहीं था, वो लोग एक-दूसरे के घरों में जाकर छुप गए और अपनी जान बचाई. गांव के रहने वाले उमेश की माने तो हिंसक भैंसे ने उसके घर पर धावा बोल दिया. आनन-फानन में उमेश ने परिवार सहित टीन शेड के ऊपर चढ़कर जान बचाई.
हर दूसरे घर का यही है हाल

pilibhit buffalo
पीलीभीत के एक गांव में भैंसे के डर से छतों पर दिख रहे लोग


पुलिस और वन विभाग से नहीं मिल रही मदद



घायल उमेश का कहना है कि मदद के लिए उसने वन विभाग और पुलिस को भी फोन कर सूचना दी. मगर उसे किसी प्रकार की मदद नहीं मिली. उमेश का यह भी कहना हैं की वो 36 घंटे से भूखा प्यासा रहा, जब हिंसक भैंसा तालाब में पानी पीने चला गया तभी वह नीचे उतरा है. वहीं ग्रामीणों का कहना है की वो लोग अपने खेतों में कामकाज करने नहीं जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज