बुलंदशहर हिंसा: बीजेपी नेता चाहते थे इंस्पेक्टर का तबादला, ये बताई थी वजह

बीजेपी सदस्यों ने इस चिट्ठी में लिखा है, 'हिंदू धार्मिक कार्यक्रमों में अड़ंगा डालने की पुलिस अफसर की आदत है और इस कारण हिंदू समाज में उनके खिलाफ गुस्सा बढ़ रहा है.'

News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 2:19 PM IST
News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 2:19 PM IST
उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में पिछले दिनों हुई हिंसा में मारे गए पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह से बीजेपी के स्थानीय नेता कुछ खुश नहीं थे. उन्होंने करीब तीन महीने सिंह के ट्रांसफर की मांग की थी. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, बीजेपी के स्थानीय नेताओं ने बुलंदशहर के सांसद भोला सिंह को इस बाबत एक सितंबर को चिट्ठी लिखी. इसमें उन्होंने सुबोध सिंह पर हिंदू धार्मिक कार्यक्रमों में रोड़ा अटकाने का आरोप लगाते हुए कहा था कि सिंह के अड़ियल रवैये के चलते उन्हें वहां से हटा देना चाहिए.

बीजेपी के शहर महासचिव संजय श्रोतिया ने इस चिट्ठी की पुष्टि की है. शहर के पूर्व पार्षद मनोज त्यागी और स्थानीय ब्लॉक प्रमुख प्रमेंद्र यादव सहित बीजेपी के छह सदस्यों ने इस चिट्ठी पर हस्ताक्षर किए थे.

ये भी पढ़ें- बुलंदशहर हिंसा: एक फौजी ने मारी थी इंस्पेक्टर सुबोध को गोली!

बुलंदशहर हिंसा का पूरा VIDEO: मारो...मारो... चिल्लाते हुए पत्थर फेंक रही थी भीड़

इस चिट्ठी में बीजेपी सदस्यों ने लिखा है, 'पुलिस अफसर की हिंदू धार्मिक कार्यक्रमों में अड़ंगा डालने की आदत है और इस कारण हिंदू समाज में उनके खिलाफ गुस्सा बढ़ रहा है.' इसमें साथ ही लिखा गया है कि एसएचओ गाय चोरी और गोकशी की शिकायतों को भी गंभीरता से नहीं लेते हैं. इसलिए उन्हें और दूसरे स्थानीय पुलिस अधिकारियों को तत्काल ट्रांसफर कर उनके खिलाफ विभाग जांच का आदेश दिया चाहिए.'

बुलंदशहर हिंसा: मुख्य आरोपी योगेश राज ने जारी किया VIDEO, खुद को बताया निर्दोष

वहीं श्रोतिया के हवाले से अखबार ने बताया है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और बीजेपी नेताओं के बीच विवाद के कई मामले सामने आए थे. वह कहते हैं, 'धार्मिक कार्यक्रमों में रोड़ा अटकाने की उनकी आदत हो चुकी थी और इस कारण हिंदू समाज काफी नाराज़ था.' वहीं बीजेपी के पूर्व पार्षद मनोज त्यागी कहते हैं, 'हमने सुबोध कुमार सिंह के उद्दंड रवैये के चलते उनके तबादले की मांग की थी.'
Loading...

बता दें कि बुलंदशहर के स्यानी में सोमवार 3 दिसंबर को गोकशी की अफवाह पर हिंसा भड़क उठी थी. इस दौरान भीड़ ने उत्पात मचाते हुए तोड़फोड़ और आगजनी की थी. हिंसा के दौरान पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की गोली लगने से मौत हो गई थी, वहीं सुमित नाम के एक लड़के की भी गोली लगने से मौत हुई थी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->
काउंटडाउन
काउंटडाउन 2018 विधानसभा चुनाव के नतीजे
2018 विधानसभा चुनाव के नतीजे