बुलेट ट्रेन शुरू होने में 5 साल की हो सकती है देरी, जापानी कंपनियां नहीं दिखा रहीं दिलचस्पी: रिपोर्ट

बुलेट ट्रेन शुरू होने में 5 साल की हो सकती है देरी, जापानी कंपनियां नहीं दिखा रहीं दिलचस्पी: रिपोर्ट
बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए करीब 60 फीसदी भूमि अधिग्रहण का काम पूरा हो गया है.

Bullet Train Project: जापान इंटरनेशनल को-ऑपरेशन एजेंसी (JICA) 20 साल के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का 80 फीसदी लोन के ​रूप में दे रही है ताकि इस प्रोजेक्ट को पूरा किया जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2020, 10:08 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.  अहमदाबाद-मुंबई के बीच शुरू होने वाली देश की पहली बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट (Bullet Train Project) में 5 साल की देरी हो सकती है. कहा जा रहा है कि बढ़ती लागत और टेंडर रद्द होने के चलते प्रोजेक्ट में देरी हो रही है. इसके अलावा जापान (Japan) की कई कंपनियां प्रोजेक्ट में दिलचस्पी भी नहीं दिखा रही हैं. अनुमान लगाया जा रहा है कि रेलवे इस प्रोजेक्ट को अब अक्टूबर 2028 तक पूरा कर पाएगी. पहले बुलेट ट्रेन के इस ड्रीम प्रोजेक्ट का काम दिसंबर 2023 में पूरा होना था. इस बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर नेशनल हाई-स्पीड रेल कॉरपोरेशन (NHSRCL) काम कर रही है.

प्रोजेक्ट में कई अड़चन
अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि इस प्रोजेक्ट में कई तरह की दिक्कतें आ रही हैं. इस प्रोजेक्ट में 21 किलोमीटर की लाइन जमीन के अंदर बिछाई जानी है, जिसमें मुंबई के पास समुद्र के भीतर 7 किलोमीट की लंबी सुरंग भी शामिल है. इसको लेकर साल के शुरुआत में टेंडर निकाली गई थी, लेकिन जापान की कोई भी कंपनी इस टेंडर प्रक्रिया में शामिल नहीं हुई. इसके अलावा 11 टेंडर में कंपनियों ने अनुमान से 90 फीसदी ज्यादा लागत की बोली लगाई. ऐसे में फिलहाल इसे रद्द करना पड़ा. इतना ही नहीं ये भी कहा जा रहा है कि 21 किलोमीटर की अडंरग्राउंड लाइन बिछाने में कई एडवांस बोरिग मशीन की जरूरत है. ऐसे में इस काम को पूरा करने में कम से कम 60 महीने लगेंगे.

ज़मीन अधिग्रहण का काम अटका!

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज