अपना शहर चुनें

States

3 दिसंबर को कन्याकुमारी पहुंचेगा चक्रवात बुरेवी, अगले तीन दिन भयंकर बारिश की आशंका

भारतीय मौसम विभाग ने मछुआरों को 1 से 4 दिसंबर के बीच समद्र में ना जाने की चेतावनी दी है. फाइल फोटो
भारतीय मौसम विभाग ने मछुआरों को 1 से 4 दिसंबर के बीच समद्र में ना जाने की चेतावनी दी है. फाइल फोटो

बंगाल की खाड़ी में बन रहे गहरे दबाव क्षेत्र के तूफान (Cyclone Storm Burevi) में बदलने की आशंकाओं के बीच अगले तीन तमिलनाडु और केरल में भयंकर की चेतावनी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2020, 5:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) के क्षेत्र में बन रहे चक्रवाती तूफान बुरेवी (Cyclone Burevi) के अगले 12 घंटों में और खतरनाक होने की आशंका है. चक्रवाती तूफान के चलते आने वाले दिनों में 2 दिसंबर से केरल में भारी से भारी हो सकती है. भारतीय मौसम विभाग (IMD), केरल के के. संतोष ने कहा कि 2 दिसंबर से केरल में कुछ स्थानों पर भयंकर बारिश हो सकती है.

के. संतोष के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बने गहरे दबाव क्षेत्र के और ज्यादा खतरनाक होने की आशंका है और चक्रवाती तूफान में बदल सकता है. उन्होंने कहा कि 2 दिसंबर की शाम को या रात में चक्रवाती तूफान के श्रीलंका को पार करने की संभावना है. इसके बाद ये पश्चिम की ओर मुड़ेगा और मन्नार की खाड़ी के साथ कन्याकुमारी क्षेत्र में 3 दिसंबर की सुबह चक्रवाती तूफान के रूप में उभर सकता है.





चक्रवाती तूफान को देखते हुए 1 दिसंबर से 4 दिसंबर के बीच मछुआरों को समुद्र में जाने से मना कर दिया गया है. मछली मारने पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है. साथ ही समुद्र में मौजूद मछुआरों को तट पर लौट आने की सलाह दी गई है.
मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिणी तमिलनाडु के कन्याकुमारी, तिरूनेलवेली, टुथुकुडी, तेनकासी, रामनाथपुरम और शिवागंगई में 2 और 3 दिसंबर को भयंकर बारिश हो सकती है.

इसके साथ ही तमिलनाडु, पुडुचेरी, मारे और कराईकल के साथ उत्तरी केरल में भी 2, 3 और 4 दिसंबर को भयंकर बारिश हो सकती है. 1 दिसंबर को तमिलनाडु के तटीय इलाकों में भारी से भारी बारिश हो सकती है.

भारतीय मौसम विभाग ने मछुआरों को 1 से 3 दिसंबर के बीच दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी, दक्षिण-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी और श्रीलंका के पूर्वी तट की ओर ना जाने की सलाह दी है, जबकि 2 से 4 दिसंबर के बीच कोमोरिन क्षेत्र, मन्नार की खाड़ी और दक्षिणी तमिलनाडु के साथ केरल और श्रीलंका के पश्चिमी तट की ओर जाने से मना किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज