लाइव टीवी
Elec-widget

अब यहां दिसंबर से नहीं बिकेगा जंक फूड, 50 मीटर दायरे में रहेगी रोक

News18Hindi
Updated: November 13, 2019, 5:38 PM IST
अब यहां दिसंबर से नहीं बिकेगा जंक फूड, 50 मीटर दायरे में रहेगी रोक
इसका उद्येश्य बच्चों के लिए सुरक्षित और पौष्टिक भोजन सुनिश्चित कराना है.

FSSAI ने कई तरह की स्टडी का हवाला देकर स्कूलों (School) को ऐसे फ़ूड आइटम्स (Food Items) पर पाबंदी (Ban) लगाने को कहा है जिनमें बड़ी मात्रा में फैट (Fat), साल्ट (Salt) या शुगर (Sugar) पाया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2019, 5:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. FSSAI ने जंक फूड (Junk Food) पर रोक लगा दी है. दिसंबर से ये रोक लागू हो जाएगी. इतना ही नहीं जंक फूड के विज्ञापन (Advertisment) पर भी रोक रहेगी. ये रोक स्कूल-कॉलेज (School-College) में बिकने वाले जंक फूड पर लगाई गई है. रोक के तहत स्कूल-कॉलेज के 50 मीटर के दायरे में भी जंक फूड न तो बिकेंगे और न ही इनका प्रचार होगा.
FSSAI ने क्या कहा है जंक फूड पर रोक लगाते हुए
FSSAI ने कई तरह की स्टडी का हवाला देकर स्कूलों को ऐसे फ़ूड आइटम्स पर पाबंदी लगाने को कहा है जिनमें बड़ी मात्रा में फैट, साल्ट या शुगर पाया जाता है. FSSAI ने सिगरेट बीड़ी की तरह जंक फूड के भी स्कूल परिसर 50 मीटर के दायरे में बेचने पर रोक लगा दी है. इस तरह के फूड में हाई फैट, शुगर, साल्ट वाले आइटम में न केवल पिज़्ज़ा, बर्गर या कोल्ड ड्रिंक ही आते हैं बल्कि चिप्स, फ्रेंच फ्राइज, समोसे, पेस्ट्री, सैंडविच, ब्रेड पकोड़ा जैसी चीजें भी शामिल हैं.
डॉक्टरों ने इससे की है जंक फूड की तुलना

डॉक्टर विवेक बिंदाल का कहना है कि HFSS food (हाई फैट, शुगर, साल्ट) एक तरह का पैकेज्ड फ़ूड होता है जिसे जंक फ़ूड भी कहा जाता है. ये उतना ही खतरनाक है जितना कि तंबाकू और सिगरेट. इसलिये स्कूलों में या स्कूलों के आसपास ये फ़ूड नही बिकना चाहिये और ना ही इसका प्रचार होना चाहिए.
इस तरह का फ़ूड बच्चों के साथ-साथ बड़ों के लिये भी खतरनाक है. मोटापा, शुगर, ब्लड प्रेशर और कैंसर जैसी बीमारी हो सकती है. बच्चों में आदत के चलते आगे चलकर समस्या बढ़ जाती है.
Visceral Fat भी आजकल बडी परेशानी बनती जा रही है. ये पेट के अंदरूनी हिस्से का फैट बढ़ाता है. HFSS फ़ूड से ये ज्यादा बढ़ता है. इसे कुछ ऐसा समझा जाय कि आदमी की तोंद निकलने लगती है. ये शुगर को काफी हद तक बढ़ा देता है.
Loading...

क्या कहते हैं गुजरात के फ़ूड एंड ड्रग कमिश्नर
गुजरात के फ़ूड एंड ड्रग कमिश्नर एचजी कोशिया ने कहा है कि FSSAI की और से फ़ूड को लेकर जो गाइडलाइन बनाई है वो जल्द लागू होगी. जंक फ़ूड टेस्टी लगता है, लेकिन शरीर को नुकसान पहुँचाता है. भारत डायाबिटिक हब बनता जा रहा है. इसको रोकना होगा. बच्चे देश का भविष्य है. बच्चे स्वस्थ होंगे यो देश स्वस्थ्य होगा.

ये भी पढ़ें- 

पूर्व सैन्य अधिकारी पर था चीन के लिए जासूसी करने का आरोप, अब तिहाड़ जेल में की आत्महत्या

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की बात पर NCP नेता अजीत पवार ने किया ये बड़ा खुलासा

प्रदूषण से निजात के लिए दिल्ली में खुला ऑक्सीजन बार, 299 रुपये देकर लें 15 मिनट शुद्ध हवा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 5:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...