राहुल गांधी ने शेयर किया सेना के जवानों का वीडियो, पूछा- PM के लिए जहाज, जवानों के लिए बुलेट प्रूफ ट्रक तक नहीं?

 राहुल गांधी (तस्वीर- https://twitter.com/INCIndia)
राहुल गांधी (तस्वीर- https://twitter.com/INCIndia)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार फिर हवाई जहाज खरीदे जाने के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर तंज कसा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2020, 12:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने केंद्र की मोदी सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर एक बार फिर निशाना साधा है. माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर एक वीडियो ट्वीट कर राहुल ने सरकार से सवाल किया है कि यह कहां का न्याय है कि प्रधानमंत्री के लिए 8,400 करोड़ के हवाई जहाज और हमारे जवानों को बिना बुलेट प्रूफ गाड़ियों में भेजा जा रहा है.' राहुल ने जो वीडियो ट्वीट किया है उसमें कथित तौर पर जवान आपस में बात कर रहे हैं 'कई मौकों पर बुलेट प्रूफ गाड़ियां सेफ नहीं होतीं और यहां हमें बिना बुलेट प्रूफ गाड़ी में भेजा जा रहा है.' इसी वीडियो को ट्वीट कर राहुल ने लिखा-'हमारे जवानों को नॉन-बुलेट प्रूफ़ ट्रकों में शहीद होने भेजा जा रहा है और PM के लिए 8400 करोड़ के हवाई जहाज़! क्या यह न्याय है?'

इससे पहले भी राहुल ने जहाजों की खरीद पर निशाना साधते हुए कहा था कि 'प्रधानमंत्री ने अपने लिए 8400 करोड़ रुपये का हवाई जहाज़ ख़रीदा. इतने में सियाचिन-लद्दाख़ सीमा पर तैनात हमारे जवानों के लिए कितना कुछ ख़रीदा जा सकता था.' कांग्रेस नेता ने दावा किया कि इस रकम में 30 लाख गरम कपड़े, 60 लाख जैकेट एवं दस्ताने, 67.20 लाख जूते और 16.80 लाख ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदे जा सकते थे. उन्होंने आरोप लगाया, ‘प्रधानमंत्री को सिर्फ़ अपनी इमेज की चिंता है, सैनिकों की नहीं.’






पंजाब में भी हवाई जहाज का जिक्र
राहुल गांधी ने हाल ही में पंजाब के पटियाला में संवाददाता सम्मेलन में भी इन वीवीआईपी विमानों की खरीद को लेकर प्रधानमंत्री पर निशाना साधा था. इसके बाद सरकारी सूत्रों ने जानकारी दी थी कि दो वीवीआईपी विमान खरीदने की प्रक्रिया संप्रग सरकार के तहत शुरू हुई थी और मौजूदा सरकार ने इसे तार्किक अंजाम तक पहुंचाया है. सूत्रों ने उल्लेख किया था कि वीवीआईपी विमान खरीद की कवायद 2011 में शुरू हुई थी और अंतर मंत्री समूह ने 10 बैठकों के बाद 2012 में अपनी सिफारिशें सौंपी थीं.

वहीं शुक्रवार को वायनाड सांसद ने पवन उर्जा संयंत्रों के इस्तेमाल से स्वच्छ पेयजल पैदा करने संबंधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुझाव को लेकर शुक्रवार को उन पर कटाक्ष किया था जिसके बाद भाजपा नेताओं ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस नेता को विज्ञान पत्रों को पढ़ने की जरूरत है.

राहुल गांधी ने एक पवन ऊर्जा कंपनी के सीईओ के साथ प्रधानमंत्री की बातचीत संबंधी वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘भारत को असली खतरा यह नहीं है कि हमारे प्रधानमंत्री को समझ नहीं है, बल्कि यह है कि उनके ईद-गिर्द के लोगों में से, किसी में उन्हें इस बारे में बताने की हिम्मत नहीं है.’ इस वीडियो में प्रधानमंत्री यह कहते सुने जा सकते हैं कि पवन ऊर्जा संयंत्र का इस्तेमाल करके न सिर्फ ऊर्जा, बल्कि ऑक्सीजन और स्वच्छ पेयजल पैदा किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज