Assembly Banner 2021

BYJU'S Young Genius: अनुष्‍का ने बनाई एंटी बुलिंग स्‍क्‍वॉड तो एंथिया हैं वायलिन की उस्‍ताद

अनुष्‍का जॉली और एंथिया डायस. (Pic-News18)

अनुष्‍का जॉली और एंथिया डायस. (Pic-News18)

BYJU'S Young Genius: अनुष्‍का जॉली एंटी बुलिंग स्‍क्‍वॉड के जरिये बच्‍चों को सशक्‍त कर रही हैं. वहीं एंथिया डायस वायलिन के जरिये संगीत की दुनिया में नाम कमा रही हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2021, 3:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. BYJU'S Young Genius में दर्शक पहले भी देश के हुनरमंद बच्चों को देख चुके हैं. इस शनिवार हम आपकी मुलाकात एंटी बुलिंग स्क्‍वाड की संस्‍थापक अनुष्‍का जॉली और वायलिन की उस्‍ताद एंथिया डायस से कराने जा रहे हैं. दोनों ही बच्चियों ने अपने-अपने क्षेत्र में कम उम्र में कीर्तिमान स्‍थापित किया है. 12 साल की अनुष्‍का जॉली जहां दिल्‍ली की रहने वाली हैं तो वहीं एंथिया डायस गोवा में रहती हैं.

अनुष्‍का को ऐसे आया आइडिया
एंटी बुलिंग स्‍क्‍वॉड की संस्‍थापक अनुष्‍का जॉली समाज के लिए एक प्रेरणा हैं. उनका कहना है कि किसी को नीचा दिखाकर कोई बड़ा नहीं हो सकता. वह कहती हैं, 'किसी को जानबूझकर नीचा दिखाना ही बुलिंग है. बुलिंग के कारण व्‍यक्ति को डिप्रेशन और एंजाइटी जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं. ऐसे में मुझे लगा कि मुझे इस ओर कुछ करना चाहिए. यहीं से मुझे एंटी बुलिंग स्‍क्‍वॉड का आइडिया आया.'

वेबसाइट के जरिये बच्‍चों को करती हैं प्रेरित
पिता मनु जॉली ने बताया कि अनुष्‍का ने उनसे बच्‍चों की मदद करने की इच्‍छा जाहिर की थी. ऐसे में उन्‍होंने अनुष्‍का को समझाया कि आपको इसके लिए एक वेबसाइट शुरू करनी चाहिए. इसके बाद अनुष्‍का ने वेबसाइट बनवाई और अपने सपने को आयाम देने में जुट गईं. वह कहती हैं, 'स्‍कूली बच्‍चे मेरी वेबसाइट पर विजिट करते हैं. मैं उनके साथ बात करती हूं. उन्‍हें बुलिंग का मतलब और इसके बारे में सब कुछ समझाती हूं. मैं हर एक बच्‍चे तक पहुंचकर दुनिया को फ्रेंडली बनाना चाहती हूं. मैं उन्‍हें बुलिंग के खिलाफ सशक्‍त करना चाहती हूं.'



हर दिन बेहतर सीखती हैं एंथिया
गोवा की रहने वाली 14 साल की एंथिया डायस वायलिन की उस्‍ताद हैं. उन्‍हें वायलिन बजाना बेहद अच्‍छा लगता है. उनका कहना है, 'वायलिन जितना पुराना होता है, उसकी आवाज उतनी ही मधुर निकलती है. मैं चाहती हूं कि मैं जब तक चाहूं तब तक वायलिन बजाती रहूं. मैं हर दिन बेहतर सीखती हूं.'

6 साल की उम्र से बजा रहीं वायलिन
एंथिया डायस की मां मैरियानेला डायस ने बताया कि जब एंथिया 6 साल की थी तबसे वह प्रोफेसर विंस्‍टन कोलासो से वायलिन सीख रही हैं. एंथिया काफी जल्‍दी सीख लेती हैं. वह 9 साल की थीं जब उसे ट्रिनिटी कॉलेज, लंदन से वायलिन में एडवांस्‍ड सर्टिफिकेट मिला. एंथिया ने यह डिस्टिंक्‍शन से पास किया था.

जीत चुकी हैं विशेष पुरस्‍कार
एंथिया को वायलिन सिखाने वाले प्रोफेसर विंस्‍टन ने बताया कि एंथिया एकलौती शख्‍स हैं जिन्‍होंने अमेरिका में इंटरनेशनल प्रोग्रेसिव म्‍यूजिशियन कंपटीशन (वायलिन) में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया और वहां सिल्‍वर ट्रॉफी जीती. एंथिया का ड्रीम है कि वह पूरी दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ कंसर्ट हॉल में अपनी परफॉर्मेंस दें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज