लाइव टीवी

Citizenship Amendment Bill 2019 का विरोध, बीजेपी विधायक के घर में लगाई आग

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 4:09 PM IST
Citizenship Amendment Bill 2019 का विरोध, बीजेपी विधायक के घर में लगाई आग
बिनोद हजारिका की फाइल फोटो

असम में नागरिकता संशोधन (Citizenship Amendment Bill 2019) विधेयक के खिलाफ हो रहे हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं. चबुआ में एक बीजेपी विधायक का घर जला दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 4:09 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) का विरोध कर रहे लोगों ने असम में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक के घर में आग लगा दी. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार घटना राज्य के चबुआ की है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार डिब्रूगढ़ (Dibrugarh) जिला स्थित चबुआ (Chabua) में भाजपा विधायक बिनोद हजारिका (Binod Hazarika) के घर में आग लगा दी. बताया गया कि कम एक सर्किल ऑफिस में भी प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी.  CAB 2019 का विरोध कर रहे लोगों ने गाड़ियों में आग भी लगा दी.

वहीं जानकारी है कि सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स को मदद देने के लिए राज्य में राष्ट्रीय राइफल्स की टुकड़ी भी पहुंचेगी. बताया गया कि अब तक असम में 5 कॉलम और त्रिपुरा में 3 कॉलम मिलिट्री तैनात कर दी गई है.

CAB 2019, Assam, Chabua, bjp, MLA Binod Hazarika,नागरिकता संशोधन विधेयक 2019,Citizenship amendment bill 2019,कैब 2019, असम, चबुआ,असम,विधायक बिनोद हजारिक

पूर्वोत्तर में कई जगहों पर प्रदर्शन

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन विधेयक में अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थी - हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है. यह विधेयक बुधवार को राज्यसभा से पारित किया गया.

इस विधेयक के पारित होने के पहले भी पूर्वोत्तर में कई जगहों पर प्रदर्शन किये गए.

 इंटरनेट सेवाओं पर लगाई गई रोक की अवधि को बढ़ायाइससे पहले असम के दस जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर लगाई गई रोक की अवधि को बृहस्पतिवार की दोपहर 12 बजे से 48 घंटे के लिए और बढ़ा दिया गया है. अधिकारियों ने बताया कि शांति भंग करने के लिए सोशल मीडिया का ‘दुरुपयोग’ रोकने और कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने के वास्ते इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाई गई थी.

अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह और राजनीतिक विभाग) संजय कृष्णा ने बताया कि लखीमपुर, धेमाजी, तिनसुकिया, डिब्रूगढ़, चराइदेव, शिवसागर, जोरहाट, गोलाघाट, कामरूप (मेट्रो) और कामरूप में इंटरनेट सेवाएं बाधित रहेंगी. नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ व्यापक विरोध प्रदर्शनों के बीच बुधवार की शाम सात बजे इंटरनेट सेवाएं स्थगित कर दी गई थीं.

यह भी पढ़ें:  नागरिकता संशोधन बिल को लेकर बांग्लादेश में क्यों है बौखलाहट?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 4:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर