Assembly Banner 2021

महाराष्ट्र-पंजाब सहित 8 राज्यों को केंद्र का निर्देश, कोरोना के खिलाफ ढिलाई ना बरतें

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले दो हफ्ते में केरल में उपचाराधीन मामलों में सबसे ज्यादा गिरावट आई है. फाइल फोटो

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले दो हफ्ते में केरल में उपचाराधीन मामलों में सबसे ज्यादा गिरावट आई है. फाइल फोटो

Covid-19 cases: बैठक में कैबिनेट सचिव ने राज्यों से कहा कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन सुनिश्चित हो और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2021, 5:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के कई राज्यों में बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामलों बीच कैबिनेट सचिव राजीव गौबा (Rajeev Gauba) ने शनिवार को महाराष्ट्र, पंजाब, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिवों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की. इन राज्यों में पिछले हफ्ते से कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. बैठक में कैबिनेट सचिव ने राज्यों से कहा कि सतर्कता और जागरूकता बनाए रखने की जरूरत है. कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए यथासंभव प्रयास किए जाए, ताकि पिछले साल साझा प्रयासों के चलते मिली सफलता जाया ना हो. कैबिनेट सचिव ने कहा कि राज्य सतर्कता के साथ कड़ाई से नियमों का पालन कराएं. टेस्टिंग की जाए, कोरोना गाइडलाइंस का पालन सुनिश्चित हो और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 8,333 केस
बता दें कि पिछले 24 घंटे में महाराष्ट्र में एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा 8,333 मामले आए. केरल में 3671 मामले और पंजाब में 622 मामले आए. मंत्रालय ने कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में 16,488 नए मामले आए जिनमें से 85.75 प्रतिशत मामले छह राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश से आए.

Youtube Video

मंत्रालय ने कहा, ‘‘आठ राज्यों में रोजाना के मामलों में बढ़ोतरी दिख रही है.’’ मंत्रालय ने कहा, ‘‘पिछले दो हफ्ते में केरल में उपचाराधीन मामलों में सबसे ज्यादा गिरावट आई. राज्य में 14 फरवरी को उपचाराधीन मरीजों की संख्या 63,847 थी, जो आज घटकर 51,679 रह गई है. महाराष्ट्र में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी जारी है. महाराष्ट्र में 14 फरवरी को 34,449 उपचाराधीन मरीज थे और अब राज्य में 68,810 मरीज हैं.’’



13 फरवरी से दूसरी खुराक देने की शुरुआत
सुबह सात बजे तक अनंतिम रिपोर्ट के अनुसार टीकाकरण अभियान के तहत देश में कुल 2,92,312 सत्र में 1,42,42,547 खुराक दी गई. इनमें से 66,68,974 स्वास्थ्यकर्मियों को पहली खुराक, 24,53,878 स्वास्थ्यकर्मियों को दूसरी खुराक दी गई. इसके अलावा अग्रिम मोर्चे के 51,19,695 कर्मियों को पहली खुराक दी गई. टीकाकरण अभियान के लिए 13 फरवरी से दूसरी खुराक देने की शुरुआत हुई थी. अग्रिम मोर्चे के कर्मियों के लिए दो फरवरी से टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था.

टीकाकरण अभियान के 42वें दिन (27 फरवरी) कुल 7,64,904 खुराक दी गई. कुल 13,397 सत्र में 3,49,020 लोगों को पहली खुराक और 4,20,884 लोगों को दूसरी खुराक दी गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज