Home /News /nation /

cadila pharma launched three dose rabies vaccine in ahmedabad gujarat

पहली बार आई रैबीज की 3 डोज वाली वैक्‍सीन, कैडिला ने भारत में टीका किया लॉन्‍च

कैडिला ने बनाई रैबीज की वैक्‍सीन. (File pic)

कैडिला ने बनाई रैबीज की वैक्‍सीन. (File pic)

Rabies Vaccine: कैडिला की इस नई रैबीज वैक्‍सीन की पहली डोज पहले दिन, दूसरी डोज तीसरे दिन और तीसरी डोज सातवें दिन लगाई जाएगी. इस तीन डोज वाली रैबीज वैक्‍सीन का खर्च 2145 रुपये आने का अनुमान है.

नई दिल्‍ली. दवा निर्माता कंपनी कैडिला ने शुक्रवार को रैबीज जी प्रोटीन वैक्‍सीन को गुजरात के अहमदाबाद में लॉन्‍च कर दिया है. इस वैक्‍सीन के सिर्फ 3 डोज ही लगाए जाएंगे. यह रिकॉम्‍बिनेंट नैनोपार्टिकल पर आधारित है. ऐसा पहली बार है कि रैबीज की कोई 3 डोज वाली वैक्‍सीन लॉन्‍च की गई है. इससे पहले अब तक रैबीज की सिर्फ 5 डोज वाली वैक्‍सीन ही उपलब्ध थी.

कैडिला की इस नई रैबीज वैक्‍सीन की पहली डोज पहले दिन, दूसरी डोज तीसरे दिन और तीसरी डोज सातवें दिन लगाई जाएगी. इस तीन डोज वाली रैबीज वैक्‍सीन का खर्च 2145 रुपये आने का अनुमान है. कहा जा रहा है कि यह वैक्‍सीन 11 राज्‍यों के प्राइवेट बाजार में जल्‍द ही लॉन्‍च की जाएगी. यह गुजरात में 18 अप्रैल को लॉन्‍च की जानी है.

कैडिला फार्मा में इनोवेशंस एंड न्‍यू प्रोडक्‍ट्स के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट डॉ. मंजुल जोशीपुरा का कहना है कि इस तीन डोज वाली रैबीज वैक्‍सीन को बनाने का काम साल 2010 से चल रहा था. पहले इसे प्राइवेट बाजार में लॉन्‍च किया जाएगा. निजी बाजार में इसकी उपलब्‍धता बढ़ जाने के बाद सरकारी स्‍तर पर इसकी उपलब्‍धता बढ़ाने के लिए सरकार से संपर्क किया जाएगा. लेकिन सरकार के साथ इसके खर्च पर बातचीत की जानी है.

इस तीन डोज वाली रैबीज वैक्‍सीन का फेज 3 क्‍लीनिकल ट्रायल भी हो चुका है. इसमें 800 वॉलंटियर शामिल हुए थे. इनकी उम्र 18 से 65 साल के बीच की थी. इस क्‍लीनिकल ट्रायल को सितंबर 2021 में ह्यूमन वैक्‍सीन्‍स एंड इम्‍यूनोथेरेप्‍यूटिक्‍स जर्नल में प्रकाशित किया गया था.

एसोसिएशन फॉर द प्रिवेंशन एंड कंट्रोल ऑफ रैबीज इन इंडिया (APCRI) के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. एमके सुदर्शन ने जानकारी दी है कि जैसा कि रैबीज एक पता चलने वाली बीमारी नहीं है, इसलिए जानवरों के काटने और रैबीज की घटनाओं पर पूरे भारत के आंकड़ों में कमी देखी जाती है. APCRI की ओर से किए गए सर्वेक्षणों के अनुसार सात राज्यों- हिमाचल प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, मणिपुर, केरल, मध्य प्रदेश, गुजरात में दर्ज किए गए आंकड़ों के अनुसार जानवरों के काटने की कुल संख्या 2012 में 998,276 से बढ़कर 2016 में 1,17,873 हो गई है.

Tags: Vaccine, Zydus Cadila

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर