अपना शहर चुनें

States

IPU के एक्सटर्नल ऑडिटर बनेंगे देश के CAG, तीन साल का होगा कार्यकाल

गिरीश मुर्मू को अगस्त महीने में सीएजी बनाया गया था. (फाइल फोटो)
गिरीश मुर्मू को अगस्त महीने में सीएजी बनाया गया था. (फाइल फोटो)

गिरीश चंद्र मुर्मू (Girish Chandra Murmu) देश के 14वें सीएजी हैं. मुर्मू ने बीते अगस्त महीने में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल पद से इस्तीफा दिया था. इसके बाद उन्हें सीएजी बनाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2020, 5:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक (Comptroller and Auditor General) गिरीश चंद्र मुर्मू (Girish Chandra Murmu) इंटर-पार्लियामेंट्री यूनियन जेनेवा (IPU-Geneva) के एक्सटर्नल ऑडिटर चुने गए हैं. अंतरराष्ट्रीय संगठन में उनका कार्यकाल तीन साल का होगा. मुर्मू देश के 14वें सीएजी हैं. वो आईपीयू में पदभार जल्द ग्रहण करेंगे. गौरतलब है कि मुर्मू ने बीते अगस्त महीने में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल पद से इस्तीफा दिया था. इसके बाद उन्हें सीएजी बनाया गया था.

क्या है IPU-Geneva
इंटर पार्लियामेंट्री यूनियन एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है. मूल रूप से यह संगठन लोकतांत्रिक देशों की संसदों के बीच समन्वय बनाने के लिए काम करता है. इसका मुख्य उद्देश्य लोकतांत्रित प्रशासन को प्रमोट करना, जवाबदेही तय करना, सदस्य देशों के बीच समन्वय स्थापित करना हैं. इसके अलावा यह संगठन राजनीति में लैंगिक समानता, युवाओं की सहभागिता और सतत विकास को प्रमोट करता है.

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल रहे मुर्मू
मुर्मू को अक्टूबर 2019 में सत्यपाल मलिक की के बाद केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर का पहला उप-राज्यपाल नियुक्त किया था. गुजरात कैडर के आईएएस अधिकारी जीसी मुर्मू को कानून व्यवस्था का लंबा अनुभव रहा है. जब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तो उस वक्त मुर्मू गृह विभाग में सचिव रहने के बाद सीएमओ में भी उनके सचिव थे. मुर्मू 1985 बैच के आईएएस अधिकारी हैं.



कौन हैं जीसी मुर्मू
21 नवंबर 1959 जन्मे मुर्मू मूल रूप से ओडिशा के हैं. उन्होंने राजनीति विज्ञान में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री ली है. उन्होंने यूनाइटेड किंगडम की बर्मिंघमन यूनीवर्सिटी से एमबीए की डिग्री ली है. मुर्मू पीएम नरेंद्र मोदी के गुजरात में मुख्यमंत्री रहने के दौरान उनके प्रमुख सचिव रहे थे. मुर्मू को केंद्र सरकार में भरोसेमंद नौकरशाहों में से एक माना जाता रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज