• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • नंदीग्राम पर सुनवाई 15 नवंबर तक टली, मुख्यमंत्री बने रहने के लिए क्या करेंगी ममता बनर्जी?

नंदीग्राम पर सुनवाई 15 नवंबर तक टली, मुख्यमंत्री बने रहने के लिए क्या करेंगी ममता बनर्जी?

विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद भवानीपुर सीट से जीते टीएमसी विधायक शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने यह सीट छोड़ दी है, ताकि ममता बनर्जी यहां से लड़ सकें.

विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद भवानीपुर सीट से जीते टीएमसी विधायक शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने यह सीट छोड़ दी है, ताकि ममता बनर्जी यहां से लड़ सकें.

टीएमसी ने लगातार तीसरी बार पश्चिम बंगाल की सत्ता हासिल की है, लेकिन नाटकीय नतीजों में ममता बनर्जी को नंदीग्राम से हार का सामना करना पड़ा है. यहां से उनके मुकाबले बीजेपी से शुभेंदु अधिकारी ही खड़े थे. अधिकारी कभी उनके सिपहसालार रहे थे, जिन्होंने चुनाव से पहले बीजेपी का दामन थामा था और ममता बनर्जी को कड़ी टक्कर दी थी.

  • Share this:

    कोलकाता. पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनावों के दौरान नंदीग्राम सीट से सीएम ममता बनर्जी की शुभेंदु अधिकारी के मुकाबले हार फाइनल है या नहीं, इस पर कोलकाता हाईकोर्ट में होने वाली सुनवाई एक बार फिर टल गई है. गुरुवार को कोलकाता हाईकोर्ट ने इस याचिका को 15 नवंबर 2021 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. इससे पहले केस की सुनवाई कर रहे जस्टिस कौशिक चंद ने खुद को मामले से अलग कर लिया था. हालांकि ऐसी मांग करने वालीं ममता बनर्जी पर उन्होंने 5 लाख रुपये का फाइन भी लगाया था. सुनवाई टलने से यह भी तय हो गया है कि मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए ममता बनर्जी को किसी और सीट से चुनाव जीतना होगा.

    टीएमसी ने लगातार तीसरी बार पश्चिम बंगाल की सत्ता हासिल की है, लेकिन नाटकीय नतीजों में ममता बनर्जी को नंदीग्राम से हार का सामना करना पड़ा है. यहां से उनके मुकाबले बीजेपी से शुभेंदु अधिकारी ही खड़े थे. अधिकारी कभी उनके सिपहसालार रहे थे, जिन्होंने चुनाव से पहले बीजेपी का दामन थामा था और ममता बनर्जी को कड़ी टक्कर दी थी. ममता बनर्जी को नंदीग्राम में शुभेंदु अधिकारी के मुकाबले 2,000 वोटों से शिकस्त झेलनी पड़ी थी. हालांकि उनका कहना था कि यह परिणाम गलत है और प्रशासन ने बीजेपी के दबाव में गलत परिणाम घोषित किया है.

    मुख्यमंत्री बने रहने के लिए क्या करेंगी ममता बनर्जी?
    नंदीग्राम सीट से हारकर मुख्यमंत्री बनीं ममता बनर्जी को मुख्यमंत्री बने रहने के लिए 5 नवंबर से पहले विधानसभा का सदस्य बनना होगा. टीएमसी को डर है कि कोरोना महामारी की वजहों से यदि उपचुनाव में देरी हुई तो ममता को इस्तीफा देना होगा.

    चुनाव पूर्व घोषणा के मुताबिक, अधिकारी ने इस सीट से जीत हासिल की. ममता बनर्जी को नंदीग्राम में शुभेंदु अधिकारी के मुकाबले 2,000 वोटों से शिकस्त झेलनी पड़ी थी. हालांकि उनका कहना था कि यह परिणाम गलत है और प्रशासन ने बीजेपी के दबाव में गलत परिणाम घोषित किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज