होम /न्यूज /राष्ट्र /वर्ल्ड टूरिज्म डे पर ट्विटर पर शुरू हुई ‘सुल्तान पैलेस’ को बचाने की मुहिम

वर्ल्ड टूरिज्म डे पर ट्विटर पर शुरू हुई ‘सुल्तान पैलेस’ को बचाने की मुहिम

वर्ल्ड टूरिज्म डे पर देश की ऐतिहासिक धरोहर पटना के ‘सुल्तान पैलेस' को बचाने के लिए ट्विटर पर मुहिम छिड़ी. (फोटो सभारः @Ahmad_Shakeel ट्विटर)

वर्ल्ड टूरिज्म डे पर देश की ऐतिहासिक धरोहर पटना के ‘सुल्तान पैलेस' को बचाने के लिए ट्विटर पर मुहिम छिड़ी. (फोटो सभारः @Ahmad_Shakeel ट्विटर)

वर्ल्ड टूरिज्म डे के मौके पर बिहार के पटना में बने ‘सुल्तान पैलेस’ को बचाने की मुहिम की शुरूआत हुई. इसमें लोगों ने धरोह ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. बिहार के पटना में फाइव स्टार होटल बनाने के लिए ऐतिहासिक ‘सुल्तान पैलेस’ को तोड़ने वाले राज्य सरकार के प्रस्ताव पर फिलहाल पटना होईकोर्ट ने रोक लगाने का फैसला किया. इस पर उत्साहित विरासत प्रेमियों ने मंगलवार को विश्व पर्यटन दिवस के मौके पर इस धरोहर को संरक्षित करने के समर्थन में ट्विटर पर अभियान चलाया. पटना से लेकर कोलकाता तक के लोगों ने सुल्तान पैलेस की तस्वीरें शेयर कर ‘लॉन्ग लिव सुल्तान पैलेस’ हैशटैग के साथ ट्वीट किए. इसके साथ ही इसे पर्यटन स्थल के तौर पर संरक्षित करने का आह्वान किया.

गौरतलब है कि आर-ब्लॉक क्षेत्र के पास ऐतिहासिक गार्डिनर रोड (वर्तमान में वीर चंद पटेल रोड) पर बने सुल्तान पैलेस को 1922 में पटना के प्रसिद्ध बैरिस्टर सर सुल्तान अहमद द्वारा बनवाया गया था. उन्होंने पटना हाईकोर्ट में न्यायाधीश के रूप में भी काम किया था. वह 1923 से 1930 तक पटना विश्वविद्यालय के पहले भारतीय कुलपति भी रहे थे.

शकील अहमद ने ट्वीट किया- इमारत धरोहर प्रेमियों के लिए खुशी का सबब
ऐतिहासिक ‘सुल्तान पैलेस’ को संरक्षित और इसे विकसित करने के समर्थन में कुछ लोगों ने हाल में अभियान शुरू किया था. इस मुद्दे पर ट्विटर पर चलाई गई मुहिम में जल्द ही भारत के विभिन्न हिस्सों के अलावा विदेशों में रह रहे भारतीय भी जुड़ गए. बिहार से ताल्लुक रखने वाले पैलेस के संरक्षण के समर्थन में ट्वीट करने वालों में सबसे आगे रहे. पैलेस की तस्वीरें शेयर करते हुए शकील अहमद ने ट्वीट किया. ‘1922 में निर्मित सुल्तान पैलेस पटना की एक प्रतिष्ठित इमारत और धरोहर प्रेमियों के लिए खुशी का सबब है. नीतीश कुमार जी और तेजस्वी यादव जी से सुल्तान पैलेस को बचाने और पटना उच्च न्यायालय में बिहार सरकार के रुख पर पुनर्विचार करने का अनुरोध करेंगे.’

लोगों ने किए कई ट्वीट
ट्विटर पर कई लोगों ने सुल्तान पैलेस की खूबसूरती दर्शाती तस्वीरों का ‘कोलाज’ भी शेयर किया. साथ ही कई यूजर्स ने पूछा, ‘कोई कैसे इतनी खूबसूरत इमारत को गिराने के बारे में सोच भी सकता है.’ बिहार में आरा शहर के रहने वाले सत्यम ने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘सुल्तान पैलेस पटना का गौरव और भारत की वास्तविक विरासत है. विश्व पर्यटन दिवस पर हम सरकार से इसे ध्वस्त करने और इसे एक होटल में बदलने के निर्णय को वापस लेने की अपील करते हैं.’

Tags: Bihar News, PATNA NEWS, Tourism

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें