• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • क्या गोमूत्र है कैंसर का इलाज? ये है एक्सपर्ट्स की राय

क्या गोमूत्र है कैंसर का इलाज? ये है एक्सपर्ट्स की राय

प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

गुजरात के जूनागढ़ विश्वविद्यालय के बायोटेक्नॉलजी वैज्ञानिकों ने दावा किया था कि वे गोमूत्र से कैंसर का इलाज करने में सफल हो गए हैं.

  • Share this:
    (राका मुखर्जी)

    काफी समय से एक चर्चा सुनने में आती है कि क्या वास्तव में गोमूत्र से कैंसर का इलाज संभव है? मेडिकल एंड पीडियाट्रिक ऑन्कॉलजी के एसोसिएट प्रोफेसर वेंकटरमन राधाकृष्णन ने Quora पोस्ट में इस साल जनवरी में इसका उत्तर दिया. उन्होंने इस पोस्ट में कहा कि गोमूत्र पीने से कैंसर का इलाज संभव नहीं है. उन्होंने कहा कि मैंने और मेरे साथी ऑन्कॉलजिस्ट ने अभी तक एक भी ऐसा कैंसर का मरीज़ नहीं देखा जिसने सिर्फ गोमूत्र पिया हो और उसका कैंसर ठीक हो गया हो.

    हाल ही में टाइम्स ऑफ इंडिया के एक आर्टिकल में छपा था कि गुजरात के जूनागढ़ विश्वविद्यालय के बायोटेक्नॉलजी के वैज्ञानिकों ने इस बात का दावा किया है कि वो गोमूत्र से कैंसर का इलाज करने में सफल हो गए हैं. हालांकि उनके इस दावे की पुष्टि वास्तविक वैज्ञानिक जांच से नहीं हुई है.

    ये भी पढ़ेंः आवारा गायों के मूत्र से दवा बनाकर इलाज करने वाली संस्था का फ्री मेडिकल कैंप उजाड़ा

    दिल्ली में ऑन्कॉल्जिस्ट डॉ. अमित अग्रवाल ने कहा कि बिना प्रयोग और उसकी सफलता के किसी चीज़ को कैंसर का इलाज नहीं माना जा सकता. कैंसर का इलाज अभी कीमोथिरैपी ही है.

    मेडिकल के क्षेत्र में 20 साल का अनुभव रखने वाले डॉ. अमित का कहना है कि मेरे साथी डॉक्टर भी कैंसर जैसे इलाज के लिए किसी वैकल्पिक इलाज का प्रयोग करने से बचते हैं क्योंकि इसमें काफी खतरा होता है.

    ये भी पढ़ेंः  कर्नाटकः प्रकाश राज के कार्यक्रम के बाद BJP युवा मोर्चा ने गौमूत्र से धोया मंच

    राधाकृष्णन ने लिखा कि गोमूत्र आदमी के मूत्र से अलग नहीं है. इसमें 95 फीसदी पानी के अलावा सोडियम, पोटेशियम, फास्फोरस और क्रेटिनिन जैसे खनिज होते हैं. इनमें से कोई भी कैंसर-रोधी तत्व नहीं है. उन्होंने कहा कि गोमूत्र खेतों में डालने वाली चीज़ है ताकि उन्हें उपजाऊ बनाया जा सके, न कि इसे बोतल में भरकर कैंसर की दवा के रूप में बेचना चाहिए.

    ट्विटर पर और भी लोगों ने इसका विरोध किया और कहा कि कैंसर जैसी भयानक बीमारी के लिए इस तरह के भ्रम फैलाना अच्छी बात नहीं है.



     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज