Home /News /nation /

क्‍या ओमिक्रॉन से इंसान में 2 बार संक्रमण हो सकता है? एक्सपर्ट्स ने दिया ये जवाब

क्‍या ओमिक्रॉन से इंसान में 2 बार संक्रमण हो सकता है? एक्सपर्ट्स ने दिया ये जवाब

एक्‍सपर्ट्स का कहना है कि संक्रमण दो बार भी हो सकता है.

एक्‍सपर्ट्स का कहना है कि संक्रमण दो बार भी हो सकता है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron variant) अत्यधिक संक्रामक है और उसका प्रकोप, भारत सहित दुनिया भर के देशों में जारी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार ओमिक्रॉन एक अत्यधिक भिन्न वेरिएंट है जिसमें उच्च संख्या में उत्परिवर्तन होते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron variant) अत्यधिक संक्रामक है और उसका प्रकोप, भारत सहित दुनिया भर के देशों में जारी है. इस बीच विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि ओमिक्रॉन से दो बार संक्रमित होना संभव है. अमेरिकी महामारी विज्ञानी एरिक फीगल-डिंग ने कहा कि ओमिक्रॉन पुन: संक्रमण निश्चित रूप से संभव है. उन्होंने ट्वीट किया ‘ यह निश्चित रूप से संभव है यदि आपका पहला ओमिक्रॉन संक्रमण कम खुराक वाला था जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को पर्याप्त रूप से उत्तेजित नहीं करता था या यदि आप प्रतिरक्षित हैं तो सावधान दोस्‍तों.’

    वहीं, अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने कहा है कि कोविड-19 का फिर से संक्रमण ‘अपेक्षित’ हैं. यहां वैज्ञानिक, वायरस के साथ दोबारा संक्रमण होने के बारे में अधिक जानने की कोशिश कर रहे हैं. वहीं, अन्य विशेषज्ञों ने कहा है कि डेटा के रूप में यह संभव लगता है. उन्‍होंने यह सुझाव दिया है कि एक बार संक्रमित होने का यह मतलब कतई नहीं है कि आगे संक्रमण से बचाव होगा. यह अगली बार भी हो सकता है.

    ये भी पढ़ें :   Delhi Corona News: दिल्ली में अचानक कैसे कम हो गए कोरोना केस, ये हो सकती है बड़ी वजह, देखें रिपोर्ट

    ये भी पढ़ें :  कोई राजा-महाराज आ रहा है क्या? ट्रैफिक रोकने को लेकर DC पर भड़के असम के CM हिमंत बिस्वा सरमा

    विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार ओमिक्रॉन एक अत्यधिक भिन्न वेरिएंट है जिसमें उच्च संख्या में उत्परिवर्तन होते हैं. ओमिक्रॉन में स्पाइक प्रोटीन में 26-32 उत्परिवर्तन शामिल हैं, जो इसे अत्यधिक संक्रामक बनाते हैं. संक्रामक रोग विशेषज्ञ और वेंडरबिल्ट यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के प्रोफेसर विलियम शेफ़नर, एम.डी. ने चेतावनी दी है कि लोगों ने ओमिक्रॉन के साथ बेहिसाब वायरस संक्रमण फैलाया है. अन्य संक्रमणों की तरह, यदि जोखिम बहुत तीव्र है, तो कभी-कभी प्रतिरक्षा को प्रभावित किया जा सकता है.

    जबकि ओमिक्रॉन पर डेटा सीमित है, इंपीरियल कॉलेज लंदन के एक हालिया शोध से पता चला है कि ओमिक्रॉन के साथ पुन: संक्रमण का जोखिम डेल्टा के मुकाबले 5.4 गुना अधिक है. यह पाया गया कि पिछले कोविड-19 संक्रमण से ओमिक्रॉन द्वारा पुन: संक्रमण से सुरक्षा 19 प्रतिशत जितनी कम हो सकती है. हालांकि, विशेषज्ञों ने दोहराया है कि दोनों संक्रमणों के बीच का समय अंतराल एक बड़ा कारक है कि संक्रमण लोगों को कैसे प्रभावित करता है. ह्यूमन माइक्रोबायोम के हेनरी रटगर्स चेयर और रटगर्स यूनिवर्सिटी में सेंटर फॉर एडवांस्ड बायोटेक्नोलॉजी एंड मेडिसिन के निदेशक मार्टिन जे. ब्लेज़र, एम.डी. ने  चेतावनी देते हुए कहा कि पिछले संक्रमण से जितना लंबा अंतराल होगा, आपको उस संक्रमण से उतनी ही कम सुरक्षा मिलेगी.

    Tags: Coronavirus, Omicron variant, WHO

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर