Home /News /nation /

कैप्टन अमरिंदर के सलाहकार ने अरूसा आलम के साथ सोनिया गांधी की तस्वीर ट्वीट की, जांच से पीछे हटी चन्नी सरकार

कैप्टन अमरिंदर के सलाहकार ने अरूसा आलम के साथ सोनिया गांधी की तस्वीर ट्वीट की, जांच से पीछे हटी चन्नी सरकार

कैप्टन अमरिंदर के मीडिया सलाहकार द्वारा अरूसा आलम की फोटो सोनिया गांधी के साथ ट्विटर पर शेयर करने के बाद अब सूबे के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) भी मामले में आईएसआई (ISI) के कनेक्शन की जांच करवाने की मांग से पीछे हट गए हैं. उन्होंने कहा कि यह दो देशों का मामला है और इसकी जांच RAW कर सकती है.

कैप्टन अमरिंदर के मीडिया सलाहकार द्वारा अरूसा आलम की फोटो सोनिया गांधी के साथ ट्विटर पर शेयर करने के बाद अब सूबे के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) भी मामले में आईएसआई (ISI) के कनेक्शन की जांच करवाने की मांग से पीछे हट गए हैं. उन्होंने कहा कि यह दो देशों का मामला है और इसकी जांच RAW कर सकती है.

कैप्टन अमरिंदर के मीडिया सलाहकार द्वारा अरूसा आलम की फोटो सोनिया गांधी के साथ ट्विटर पर शेयर करने के बाद अब सूबे के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) भी मामले में आईएसआई (ISI) के कनेक्शन की जांच करवाने की मांग से पीछे हट गए हैं. उन्होंने कहा कि यह दो देशों का मामला है और इसकी जांच RAW कर सकती है.

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़. पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) की पाकिस्तानी महिला मित्र अरूसा आलम (Aroosa Alam) को लेकर सियासी पार्टियों में मचा बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. कैप्टन के मीडिया सलाहकार द्वारा अरूसा आलम की फोटो सोनिया गांधी के साथ ट्विटर पर शेयर करने के बाद अब सूबे के उप मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा (Sukhjinder Singh Randhawa) भी मामले में आईएसआई (ISI) के कनेक्शन की जांच करवाने की मांग से पीछे हट गए हैं. उन्होंने कहा कि यह दो देशों का मामला है और इसकी जांच RAW कर सकती है. यहां दिलचस्प यह है कि इस मामले को उप मुख्यमंत्री रंधावा ने ही शुरू कर तूल दिया था और अब राज्य के सभी राजनीतिक दलों ने कांग्रेस को घेरना शुरू कर दिया है. बताया जा रहा है कि रंधावा ने अब जांच करवाने को लेकर किया अपना ट्वीट भी हटा दिया है.

    उधर कैप्टन अमरिंदर और अरूसा आलम को लेकर रंधावा के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि जब कैप्टन सीएम थे तो उन्होंने यह मामला क्यों नहीं उठाया. उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल इस मामले को शुरू से उठाता रहा है, लेकिन उस वक्त कांग्रेस के नेता द्वारा उनका उलटा विरोध किया जाता था. सुखबीर ने आरोप लगाते हुए कहा कि चार साल तक रंधावा भी अरूसा आलम के साथ डिनर करते रहे हैं. हालांकि रंधावा ने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया. उधर आम आदमी पार्टी ने भी अरूसा आलम को लेकर कैप्टन की देशभक्ति पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं.

    अरूसा आलम को लेकर कैप्टन ने यह भी स्पष्ट किया है कि देश की खुफिया एजेंसियों की क्लीयरेंस के बाद ही अरूसा आलम को देश में आने की अनुमति दी गई थी. बेअदबी के मामलों को लेकर भी कैप्टन ने रंधावा पर उलटवार करते हुए कहा है कि उनकी सिफारिश के बाद ही उन्होंने जांच के लिए  कुंवर विजय प्रताप सिंह और रणबीर सिंह खटड़ा को नियुक्त किया था. उन्होंने कहा कि अरूसा आलम की 2007 में ही जांच हो गई थी और वह उस समय सीएम ही नहीं थे. कैप्टन ने रंधावा को सलाह दी है कि वह अपना वक्त बर्बाद न करें और त्योहारों के सीजन में सुरक्षा व्यवस्था पर अपना ध्यान केंद्रित करें.

    Tags: Arusha Alam, Captain Amarinder Singh

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर