Home /News /nation /

BSF का दायरा बढ़ाने पर कैप्टन ने की केंद्र की तारीफ तो परगट सिंह बोले- पूर्व CM बीजेपी के साथ

BSF का दायरा बढ़ाने पर कैप्टन ने की केंद्र की तारीफ तो परगट सिंह बोले- पूर्व CM बीजेपी के साथ

पंजाब के मंत्री परगट सिंह ने पूर्व मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह पर आरोप लगाए हैं. (फाइल फोटो)

पंजाब के मंत्री परगट सिंह ने पूर्व मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह पर आरोप लगाए हैं. (फाइल फोटो)

पंजाब (Punjab) सहित कुछ राज्‍यों में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने के केंद्र सरकार के फैसले ने राजनीति में उबाल ला दिया है. पंजाब के कैबिनेट मंत्री परगट सिंह (Pargat Singh) ने कहा है कि पंजाब के पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (amrinder singh), भारतीय जनता पार्टी (BJP) से मिले हुए हैं. केंद्र सरकार के फैसलों पर अमरिंदर सिंह अपना समर्थन जाहिर करते हुए यह साबित भी कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    चंडीगढ़ . पंजाब (Punjab) सहित कुछ राज्‍यों में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने के केंद्र सरकार के फैसले ने राजनीति में उबाल ला दिया है. पंजाब के कैबिनेट मंत्री परगट सिंह (Pargat Singh) ने कहा है कि पंजाब के पूर्व मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह (amrinder singh), भारतीय जनता पार्टी (BJP) से मिले हुए हैं. केंद्र सरकार के फैसलों पर अमरिंदर सिंह अपना समर्थन जाहिर करते हुए यह साबित भी कर रहे हैं. पंजाब के मंत्री परगट सिंह ने आरोप लगाया है कि इसे लागू करने के लिए पूर्व मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से हाथ मिलाया है.

    मंत्री परगट सिंह ने पूछा है कि कैप्‍टन साहब आप क्‍या साबित करने की कोशिश कर रहे हैं? मैंने हमेशा ही कहा कि वे भाजपा के साथ है. इससे पहले दिल्‍ली गए तो वे अमित शाह से मिले थे, इसके बाद धान की खरीद में 10दिन की देरी हुई और अब जब वह फिर दिल्‍ली गए हैं तो बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ा दिया गया. परगट ने आगे कहा, ‘कैप्‍टन साहब, कृपया ऐसा न करें. हम आपका बहुत सम्मान करते हैं, लेकिन इससे नीचे मत जाओ. ये सब बीजेपी से हाथ मिलाकर ना करवाएं. भगवा पार्टी को भी यह समझना चाहिए कि वह पंजाब को अशांत राज्य नहीं बनने दे सकती. ऐसा लगता है कि वे राज्य में राज्यपाल शासन लगाना चाहते हैं. मैं उनसे कहना चाहता हूं कि हम बीजेपी को उसके मंसूबों में कामयाब नहीं होने देंगे.

    ये भी पढ़ें :  नहीं हो रहा सरकारी अपील का असर, कोरोना घटा, त्योहार में भीड़ बढ़ी

    मंत्री परगट सिंह, जो कैप्टन के कट्टर विरोधी नवजोत सिंह सिद्धू के करीबी सहयोगी हैं, ने यह भी कहा कि बीएसएफ पर भारत सरकार का निर्णय पंजाब के आधे हिस्से पर कब्जा करने जैसा है. यह भाजपा की ध्रुवीकरण नीति का नमूना है. उन्‍होंने कहा कि मैं उन्हें याद दिलाना चाहता हूं कि पंजाब गुरु नानक देव की विचारधारा और शिक्षाओं का पालन करता है. भाजपा लोगों को सांप्रदायिक आधार पर बांटना चाहती है लेकिन पंजाब, कभी भी शासकों के इस तरह के मंसूबों का शिकार नहीं हुआ है. पूर्व मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा केंद्र के कदम का समर्थन करने के बाद, परगट सिंह ने ऐसे आरोप लगाते हुए हमला किया है. कैप्‍टन की ओर से ट्वीट करते हुए उनके मीडिया सलाहकार ने कहा था, ‘कश्मीर में हमारे जवान मारे जा रहे हैं. हम देख रहे हैं कि अधिक से अधिक हथियार और नशीले पदार्थ पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों द्वारा पंजाब में धकेले जा रहे हैं. ऐसे में बीएसएफ की बढ़ी उपस्थिति और शक्तियां ही हमें और मजबूत करेंगी. आइए, केंद्रीय सशस्त्र बलों को राजनीति में न घसीटें.’

    ये भी पढ़ें  :   …तो पाकिस्तान पर फिर सर्जिकल स्ट्राइक कर सकता है भारत! अमित शाह ने दी चेतावनी

    उनके मीडिया सलाहकार ने उन्हें आगे और लिखा, ‘पक्षपातपूर्ण विचार, राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर हमारे रुख को निर्धारित नहीं कर सकते हैं और न ही करना चाहिए. मैंने 2016 सर्जिकल स्ट्राइक के समय कहा था और फिर से कह रहा हूं कि हमें राजनीति से ऊपर उठना होगा जब भारत की सुरक्षा दांव पर है, जैसा कि अभी है: @capt_amarinder.’ कैप्‍टन पर अपनी नाराजगी जाहिर करने वाले परगट सिंह अकेले नहीं हैं. मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा देने के बाद गांधी परिवार के खिलाफ उनके गुस्‍से और साथ ही गृहमंत्री अमित शाह और एनएसए अजीत डोभाल के साथ, बाद की बैठकों ने राजनीतिक सर्किल में कैप्‍टन के प्रति रोष बढ़ा दिया था.

    पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी अपने ट्वीट के जरिए कैप्‍टन अमरिंदर पर हमला बोला है. उन्‍होंने लिखा है कि ‘हमें अपने सुरक्षा बलों पर गर्व है जो हमारी सीमाओं को सुरक्षित रखने और विदेशी हमलावरों से भारत की रक्षा करने के लिए हैं. अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए और नेताओं और सरकारों द्वारा की गई गंदगी को साफ करने के लिए उनका उपयोग करना बहुत खतरनाक है. यह न केवल हमारे बहादुर बलों को बदनाम करता है बल्कि उनके मनोबल, अनुशासन और तैयारियों पर भी प्रतिकूल प्रभाव डालता है. राजनीतिक हथियार के रूप में हमारी ताकतों के इस प्रयोग से बचना चाहिए. इसे @capt_amarinder सिंह जी से बेहतर कोई नहीं जानता. मैंने बीएसएफ अधिकारियों से मुलाकात की थी, जब अकाली अपनी सरकार की 2014 की विफलताओं के लिए उन्हें बलि का बकरा बना रहे थे.

    Tags: Amrinder singh, BJP, BSF, Pargat Singh, Punjab

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर