लाइव टीवी

भारतीयों ने अमेरिका की 'कार्डियक कोहरेंस ब्रीदिंग' का उड़ाया मज़ाक, कहा- 'यह प्राणायाम है'

News18.com
Updated: January 29, 2019, 3:25 PM IST
भारतीयों ने अमेरिका की 'कार्डियक कोहरेंस ब्रीदिंग' का उड़ाया मज़ाक, कहा- 'यह प्राणायाम है'
इमेज क्रेडिटः बाबा रामदेव( यू ट्यूब)

साइंटिफिक अमेरिकन के एक लेख में प्राणायाम को कार्डियक कोहरेंस ब्रीदिंग कहा गया जिस पर भारतीयों ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया दी.

  • News18.com
  • Last Updated: January 29, 2019, 3:25 PM IST
  • Share this:
अगर आप भारतीय हैं तो किसी न किसी ने कभी न कभी आपसे योग या प्राणायाम के बारे में ज़िक्र ज़रूर किया होगा. ये भी बताया होगा इसके स्वास्थ्य को लेकर कितने फायदे हैं. प्राणायाम, योग का ही एक भाग है. प्राणायम संस्कृत का शब्द है जिसका अर्थ होता है सांसों पर नियंत्रण करना. आपको यह सब कुछ सामान्य लग सकता है लेकिन साइंटिफिक अमेरिकन के एक लेख में इसे 'कार्डियक कोहेरेंस ब्रीदिंग' कहकर इसके बारे में विस्तार से समझाया गया है. इसमें कहा गया है कि सही से सांस लेने पर स्वास्थ्य अच्छा रहता है. इस पर कई भारतीयों ने ट्विटर पर मजे लेते हुए कमेंट किए-

ये भी पढ़ेंः रविशंकर प्रसाद बोले, मानसिक शांति के लिए प्राणायाम करें नीतीश

हालांकि इस लेख में प्राणायम शब्द का प्रयोग किया गया है. लेकिन भारतीयों ने ट्विटर पर इसके बारे में कमेंट करते हुए लिखा- 'यह योग है कोई नई वैज्ञानिक खोज नहीं है.' इस पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी कमेंट किया और लिखा, 'भारतीय परंपरा के 2500 साल पुराने प्राणायाम को 'कार्डियक कोहेरेंट ब्रीदिंग' बताया गया है. पश्चिम को यह बात जानने में सदियों लग गए.'


Loading...



 



 



 



 



 



साइंटिफिक अमेरिकन लेख अंत में कहता है कि ये भारत ये कार्डियक अरेस्ट ब्रीदिंग है जो कि 2000 सालों से भारत में प्राणायाम कहा जा रहा है.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2019, 3:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...