सुनंदा पुष्कर केस: दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से कहा- थरूर पर भी चलाया जाए केस

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने कोर्ट (Court) ने कहा, शशि थरूर (Shashi Tharoor) के खिलाफ आईपीसी की धारा 498A के तहत क्ररता का आरोप, धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला चलाया जाना चाहिए.

News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 4:52 PM IST
सुनंदा पुष्कर केस: दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से कहा- थरूर पर भी चलाया जाए केस
सुनंदा पुष्कर को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में शशि थरूर पर चले मुकदमा
News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 4:52 PM IST
सुनंदा पुष्कर (Sunanda Pushkar) की मौत के मामले में कांग्रेस (Congress) नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) पर शिकंजा कसता जा रहा है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने शनिवार को कोर्ट में अपनी दलील रखी. दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में बहस के दौरान कहा कि कांग्रेस नेता शशि थरूर के खिलाफ सुनंदा पुष्कर को आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया जाना चाहिए.

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में कहा, 'शशि थरूर के खिलाफ आईपीसी की धारा 498A के तहत क्रूरता का आरोप, धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला चलाया जाना चाहिए. इस मामले में दिल्ली पुलिस कोर्ट के सामने अपना पक्ष रख रही है. बताया जा रहा है कि यह बहस 17 अक्टूबर तक जारी रहेगी.

थरूर और सुनंदा के रिश्ते थे तनावपूर्ण
अभियोजन पक्ष की ओर से कोर्ट को बताया गया था कि यह सिर्फ एक पत्र की बात नहीं है, बल्कि ऐसे कई पत्र हैं, जिनसे पता चलता है कि थरूर और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के बीच गहरे रिश्ते थे. थरूर और तरार के बीच के रिश्तों के कारण ही सुनंदा तनाव में रहने लगी थीं. बचाव पक्ष के वकील विकास पाहवा ने अदालत में अभियोजन पक्ष के आरोपों को गलत बताया.

गौरतलब है कि सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी 2014 की रात को दिल्ली के एक होटल में मृत मिली थीं. उस समय शशि थरूर के सरकारी बंगले का जीर्णोद्धार किया जा रहा था. इसलिए वो होटल में रह रहे थे. पुलिस ने इस मामले में थरूर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 498-A और धारा 306 के तहत मामला दर्ज किया. फिलहाल शशि थरूर जमानत पर हैं.

कोर्ट ने दिया आदेश- केस के दस्तावेज तीसरे व्यक्ति से नहीं होंगे साझा
इसी साल जुलाई माह में सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा था कि हाई प्रोफाइल सुनंदा पुष्कर मौत मामले से जुड़े किसी भी दस्तावेज को किसी तीसरे व्यक्ति के साथ साझा नहीं किया जाएगा. सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में दिल्ली के रॉउज एवेन्यू कोर्ट ने यह आदेश दिया था. कोर्ट ने साथ ही कहा है कि इस केस से जुड़े तीसरे पक्ष को चार्जशीट और दूसरे पक्ष को डाक्यूमेंट भी नहीं दिया जाएगा. कोर्ट 20 और 22 अगस्त को कांग्रेस नेता शशि थरूर के खिलाफ आरोपों पर बहस शुरू करेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 3:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...