Assembly Banner 2021

वैक्सीन सर्टिफिकेट पर PM मोदी की फोटो का मामला, TMC की शिकायत पर EC ने मांगी रिपोर्ट

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने आयोग को लिखे पत्र में मोदी की तस्वीर पर सवाल उठाए थे.  (फाइल फोटो)

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने आयोग को लिखे पत्र में मोदी की तस्वीर पर सवाल उठाए थे. (फाइल फोटो)

West Bengal Assembly Election: तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर होना चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट (Covid Vaccine Certificate) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की फोटो को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग (Election Commission) से शिकायत की थी. इसके बाद चुनाव आयोग ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को इसके संबंध में रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं. पार्टी सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी के फोटो को आचार संहिता का उल्लंघन बता रही थी. खास बात यह है कि विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के मद्देनजर पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनावों की घोषणा के बाद 26 फरवरी से आदर्श आचार संहिता प्रभावी है.

भारत निर्वाचन आयोग ने चुनावी आचार संहिता के उल्लंघन संबंधी तृणमूल कांग्रेस की शिकायत पर पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से रिपोर्ट मांगी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, निर्वाचन अधिकारी को इसके संबंध में 24 घंटों में रिपोर्ट दाखिल करनी है. रिपोर्ट्स बताती हैं कि आयोग सीईओ की रिपोर्ट के आधार पर फैसला लेगा. पदाधिकारी ने गुरुवार को बताया कि राज्य निर्वाचन कार्यालय से तृणमूल कांग्रेस की शिकायत का सत्यापन करके रिपोर्ट देने को कहा गया है. उन्होंने बताया कि निर्वाचन कार्यालय की रिपोर्ट के आधार पर ही चुनाव आयोग आगे की कार्रवाई करेगा.

यह भी पढ़ें: वैक्सीन सर्टिफिकेट पर छपी PM मोदी की फोटो पर बवाल, TMC ने EC से की शिकायत



पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने मंगलवार को चुनाव आयोग को दी गई शिकायत में आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल और अन्य चुनावी राज्यों में को-विन प्लेटफॉर्म के जरिए प्राप्त किए जाने वाले कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर होना आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है. पार्टी ने तस्वीर को प्रधानमंत्री द्वारा अधिकार का दुरुपयोग करार दिया है.

टीएमसी ने की थी फोटो रोकने की मांग
टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने आयोग को लिखे पत्र में मोदी की तस्वीर पर सवाल उठाए थे. उन्होंने कहा था कि सर्टिफिकेट पर अपना नाम रखवाकर पीएम न केवल अपनी ताकत और पद का गलत फायदा उठा रहे हैं, बल्कि चिकित्सा समुदाय से उनका श्रेय भी छीन रहे हैं. ब्रायन ने चुनाव आयोग से इस काम को रोकने की अपील की थी. बीते बुधवार को ही चुनाव आयोग ने सभी पेट्रोल पंप डीलर्स और दूसरी एजेंसियों से 72 घंटों के भीतर केंद्र की योजनाओं से जुड़ी और पीएम मोदी की तस्वीरें हटाने के लिए कहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज