यूपी-बिहार के बाद गुजरात के अनाथ आश्रम में सामने आया बच्चियों से शारीरिक शोषण का मामला

अहमदाबाद वेस्ट महिला पुलिस ने इस मामले में पॉक्सो की विभिन्न धाराओं में अधिकारी अरशद सिद्दीकी और गार्ड के खिलाफ मामला दर्ज किया है. गार्ड ने बच्चियों को इसलिए पीटा था क्योंकि उन्होंने तय शिड्यूल के हिसाब से प्रार्थना नहीं की थी

News18Hindi
Updated: August 11, 2018, 7:32 PM IST
यूपी-बिहार के बाद गुजरात के अनाथ आश्रम में सामने आया बच्चियों से शारीरिक शोषण का मामला
Image for representation.
News18Hindi
Updated: August 11, 2018, 7:32 PM IST
अहमदाबाद में एक ट्रस्ट के अनाथ आश्रम में रहने वाली दो लड़कियों ने आश्रम के एक अधिकारी पर यौन शोषण का आरोप लगाया है. वहीं तीन अन्य ने सिक्योरिटी गार्ड पर खुद को पीटने का आरोप लगाया है.

यह खुलासा तब हुआ जब जिला प्रशासन की एक टीम ने अव्यवस्था की जांच के लिए इस आश्रम में छापेमारी की. छापे के बाद आश्रम की 18 लड़कियों को सरकार की तरफ से संचालित बाल गृह में रखा गया है.

अहमदाबाद वेस्ट महिला पुलिस ने इस मामले में पॉक्सो की विभिन्न धाराओं में अधिकारी अरशद सिद्दीकी और गार्ड के खिलाफ मामला दर्ज किया है. गार्ड ने बच्चियों को इसलिए पीटा था क्योंकि उन्होंने तय शिड्यूल के हिसाब से प्रार्थना नहीं की थी. अधिकारियों ने बताया कि सिद्दीकी हज यात्रा पर देश से बाहर है और उससे संपर्क नहीं हो पाया है.

न्यूज 18 से बातचीत में सोशल जस्टिस और एम्पॉवरमेंट के राज्य मंत्री ईश्वर परमार ने कहा, “हमने इस मामले में डिटेल्ड रिपोर्ट मंगवाई है. रिपोर्ट मिलते ही सरकार कानून के तहत इस मामले में कार्रवाई करेगी. मैंने गुजरात के सभी जिलों के कलेक्टरों को अनाथालयों में औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिये हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि बच्चियों के साथ ऐसी घटनाएं न हों.”

राज्य के बाल अधिकार आयोग की अध्यक्ष जागृति पांड्या ने कहा कि उन्होंने इस मामले की रिपोर्ट मंगाई है और विभाग आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग करेगा.

वहीं अहमदाबाद की जिला बाल रक्षा अधिकारी पलक जडेजा ने बताया कि आश्रम में अव्यवस्थाओं का खुलासा होने के बाद उन्होंने महिला पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है. उन्होंने कहा, “दो लड़कियों ने शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है वहीं तीन लोगों ने पिटाई की बात कही है. पुलिस अब इस मामले में विस्तृत जांच करेगी.”

उत्तर प्रदेश और बिहार के शेल्टर होम्स में शारीरिक शोषण की घटनाएं सामने आने के बाद गुजरात सरकार ने सभी जिलों के कलेक्टरों को औचक निरीक्षण के निर्देश दिए हैं. बिहार के मुजफ्फरपुर में जहां 34 लड़कियों के साथ यौन शोषण हुआ था वहीं मुजफ्फरपुर में शेल्टर होम से 24 लड़कियों को बचाया गया है, वहीं 18 लड़कियां अभी भी लापता हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर