गुरमीत राम रहीम की गुफाओं से दौलत गायब करने के पीछे है हनीप्रीत!

गुरमीत राम रहीम के बारे में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं. बाबा की गुफा के बारे में पता चला है कि उसके कुछ खास दरवाजे हनीप्रीत के फिंगरप्रिंट से ही खुलते थे. उन्हीं दरवाजों से हनीप्रीत डेरा का खजाना खाली करके 28 अगस्त को फरार हुई थी.

मोहित मल्होत्रा | News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 6:00 PM IST
गुरमीत राम रहीम की गुफाओं से दौलत गायब करने के पीछे है हनीप्रीत!
राम रहीम के साथ हनीप्रीत
मोहित मल्होत्रा | News18Hindi
Updated: October 13, 2017, 6:00 PM IST
गुरमीत राम रहीम के बारे में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं. बाबा की गुफा के बारे में पता चला है कि उसके कुछ खास दरवाजे हनीप्रीत के फिंगरप्रिंट से ही खुलते थे. संभवतः उन्हीं दरवाजों से हनीप्रीत डेरा का खजाना खाली करके 28 अगस्त को फरार हुई थी.

जानकारी के मुताबिक डेरा प्रमुख राम रहीम की गिरफ्तारी के बाद चार दिनों तक हनीप्रीत सिरसा में ही ठहरी थी. डेरे में मौजूद बाबा की गुफा के खास दरवाजे गुरमीत राम रहीम के अलावा सिर्फ हनीप्रीत के फिंगरप्रिंट से ही खुलते थे.

CID रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि 28 अगस्त की रात को हनीप्रीत दो बड़े सूटकेस लेकर वहां से निकली थी. जांच में पता चला है कि पंचकूला में हिंसा फैलाने के लिए काले धन का इस्तेमाल हुआ था. इसी बीच हरियाणा पुलिस ने राजस्थान के गुरुसर मोडिया से कुछ अहम दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि हनीप्रीत इंसा 25 अगस्त की रात लगभग 2 बजे सिरसा पहुंची थी और 28 अगस्त की रात एक कांग्रेसी नेता की जेड प्लस सिक्योरिटी की आड़ में दो बड़े सूटकेस लेकर डेरा सच्चा सौदा से राजस्थान की ओर चली गई थी. उसके साथ राम रहीम का परिवार भी काले शीशे वाली गाड़ियों में सवार होकर निकला था.

गौरतलब है कि गुरमीत राम रहीम की गुफा के हाईटेक दरवाजे या तो उसके फिंगरप्रिंट से खुलते थे या फिर हनीप्रीत और उसके करीबी नौकर धर्म सिंह के फिंगरप्रिंट से, लेकिन उस वक्त गुरमीत सुनारिया जेल में बंद था और उसका करीबी नौकर धर्म सिंह अंबाला की जेल में था.

इसलिए हनीप्रीत ही गुफा के दरवाजे खोल सकती थी. सूत्रों के मुताबिक हनीप्रीत ने बाबा की गुफा के अलावा जितने भी दरवाजे सेंसर से खुलते थे उन सभी के सेंसर नष्ट कर दिए थे. यही कारण था कि 7 सितंबर को जब कोर्ट कमिश्नर पुलिस बल के साथ छानबीन के लिए डेरा मुख्यालय पहुंचे थे, तो उनको सभी सेंसर युक्त दरवाजे खुले हुए मिले थे.

हनीप्रीत के 28 अगस्त की रात को दो बड़े सूटकेसों को डेरा से बाहर ले जाने की भनक खुफिया तंत्र को भी थी. उनका खुलासा आईबी की रिपोर्ट में भी किया गया है. हनीप्रीत ने सूटकेसों में जो दस्तावेज और रुपये-पैसे थे वो आखिर कहां छिपा कर रखे गए हैं? इसे क्या गुरमीत राम रहीम के पैतृक गांव गुरुसर मोडिया में या फिर कहीं और रखा गया है? पुलिस इसी राज का पर्दाफाश करना चाहती है.

हालांकि हरियाणा के बड़े पुलिस अधिकारियों ने इस बात के संकेत दिए हैं कि हनीप्रीत इंसा ने करीब-करीब सब कुछ कबूल लिया है, लेकिन डेरा सच्चा सौदा की अकूत संपत्ति और नकदी के बारे में फिलहाल कोई पुख्ता जानकारी बाहर नहीं आई है.

हनीप्रीत को देखते ही गले लग रोने लगी विपासना
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Nation News in Hindi यहां देखें.

और भी देखें

Updated: June 16, 2018 10:34 AM ISTVIDEO: राजाजी टाइगर रिजर्व अगले 6 महीने के लिए बंद
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर