Assembly Banner 2021

खुद को TRS सांसद का सहायक बता एक लाख रुपये लेते 3 लोगों को CBI ने किया गिरफ्तार

CBI फाइल फोटो

CBI फाइल फोटो

CBI ने शुभांगी गुप्ता, राजीब भट्टाचार्य और दुर्गेश कुमार मौर्या को यहां 401, सरस्वती अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया,

  • Share this:
नई दिल्ली. सीबीआई (CBI) ने, खुद को टीआरस सांसद कविता मलोथ (Kavitha Maloth) के कर्मचारी होने का दावा करते हुए एक व्यक्ति के अवैध निर्माण को नगर निगम द्वारा तोड़े जाने से रोकने के एवज में कथित तौर पर एक लाख रुपये लेने को लेकर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि जांच एजेंसी ने शुभांगी गुप्ता, राजीब भट्टाचार्य और दुर्गेश कुमार मौर्या को यहां 401, सरस्वती अपार्टमेंट से उस वक्त गिरफ्तार किया, जब वे मनमीत लांबा से रुपये ले रहे थे. लांबा ने सीबीआई से संपर्क कर उनके खिलाफ एक शिकायत की थी. लोकसभा की वेबसाइट के मुताबिक 401, सरस्वती अपार्टमेंट तेलंगाना के महबूबाबाद से सांसद मलोथ का आधिकारिक आवास है.

Youtube Video




 'सांसद का कॉर्डिनेटर बताते हुए मिलवाया'
अधिकारियों ने बताया कि लांबा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि खुद को सांसद का निजी सहायक होने का दावा करने वाले भट्टाचार्या ने उनके मोबाइल फोन पर कॉल कर उन्हें सरदार नगर इलाके में स्थित उनके अवैध निर्माण को दिल्ली नगर निगम में अपने संपर्कों की मदद से ध्वस्त कराने की धमकी दी थी. उन्होंने बताया कि भट्टाचार्या ने दावा किया था कि एमसीडी के ‘मलिक साहब’ लांबा की मदद कर सकते हैं, बशर्ते कि वह उन्हें पांच लाख रुपये दें.

उसने गुप्ता को सांसद का कॉर्डिनेटर बताते हुए मिलवाया था. अधिकारियों ने बताया कि आखिरकार एक लाख रुपये पर उनके बीच सहमति बनी थी. उन्होंने बताया कि लांबा को 401 सरस्वती अपार्टमेंट में रुपये लेकर आने को कहा गया था.

उन्होंने बताया कि लांबा की शिकायत मिलने पर सीबीआई ने आरोपियों की गतिविधियों पर नजर रखी और उन्हें गिरफ्तार कर लिया. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज