पशु तस्करी मामले में CBI ने BSF अधिकारी समेत 4 पर किया केस दर्ज

पशु तस्करी के नेटवर्क को लेकर सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई की है. (फाइल फोटो)
पशु तस्करी के नेटवर्क को लेकर सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई की है. (फाइल फोटो)

बीएसएफ (BSF) के अधिकारी सतीश कुमार पहले भारत-बांग्लादेश बॉर्डर (Indo-Bangladesh Border) पर तैनात रह चुके हैं और इस वक्त रायपुर में तैनात हैं. उनके अलावा इनामुल हक, अनारुल हक और मोहम्मद गुलाम मुस्तफा पर केस दर्ज किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 4:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पशु तस्करी (Cattle Smuggling) के मामले में सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) ने भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर तैनात रहे सीमा सुरक्षा बल (BSF) के एक अधिकारी समेत चार लोगों को पर केस दर्ज किया है. BSF की 36वीं बटालियन के पूर्वी कमांडेंट रहे इस अधिकारी पर केस दर्ज किए जाने की जानकारी सीबीआई ने दी है. गौरतलब है कि एजेंसी ने पशु तस्करी के संबंध में कोलकाता, मुर्शीदाबाद, गाजियाबाद, अमृतसर और रायपुर समेत देश के कई राज्यों के विभिन्न जिलों में सर्च अभियान जारी रखा है.

वर्तमान में रायपुर में तैनात हैं अधिकारी सतीश कुमार
बीएसएफ के अधिकारी सतीश कुमार पहले भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर तैनात रह चुके हैं और इस वक्त रायपुर में तैनात हैं. उनके अलावा इनामुल हक, अनारुल हक और मोहम्मद गुलाम मुस्तफा पर केस दर्ज किया गया है.

जुलाई महीने में भी बीएसएफ ने पकड़े थे कई पशु तस्कर
गौरतलब है कि बीते जुलाई महीने में पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में बीएसएफ की 141वीं बटालियन के जवानों पांच पशु तस्करों को गिरफ्तार किया था. बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर की ओर से बताया गया था कि सूत्रों से मिली सूचना के बाद बीएसएफ की इंटेलिजेंस ब्रांच ने 8-9 जुलाई की रात में सेक्टर बहरामपुर के अंतर्गत 141वीं बटालियन की सीमा चौकी बॉसमारी इलाके में भारी मात्रा में मवेशियों की तस्करी होने की सूचना दी थी. तब तस्करों से पूछताछ में पता चला था कि भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर पशुओं को सीमा पार कराने के लिए प्रति पशु पांच हजार रुपए दिए जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज