• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • CBI DRESS CODE JEANS T SHIRT AND SPORTS SHOES BAN IN CBI OFFICE

अब देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी CBI में भी ड्रेस कोड, दफ्तर में नहीं पहन सकते जीन्स-टीशर्ट और चप्पलें

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) का ऑफिस.

CBI Office Dress Code: ऑफिस ऑर्डर में साफ तौर से महिलाओं और पुरुषों के लिए ड्रेस कोड बताया गया है और इसका सख्ती से पालन करने को कहा गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अब देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई में भी ड्रेस कोड लागू हो गया है, जिसके मुताबिक जीन्स, टीशर्ट, स्पोर्ट्स शू और  चप्पलें पहनकर दफ्तर नहीं जा सकते हैं. ऑफिस जाने के लिए पुरुषों को कॉलर वाले शर्ट, ट्राउजर्स/फॉर्मल पैंट और फॉर्मल शू पहनना होगा. इतना ही नहीं, उन्हें अच्छी तरह से शेव करके भी दफ्तर आना होगा. वहीं महिलाएं सूट, साड़ी, फॉर्मल शर्ट और ट्राउजर्स पहन सकती हैं. सीबीआई दफ्तर में कैजुअल ड्रेस पहनकर आने की मनाही हो गई है.

सीबीआई के प्रशासनिक विंग ने 3 जून को इस बावत एक ऑर्डर निकाला है और CBI के एम्प्लॉयीज को "Proper ऑफिस attire" पहनकर आने की ताकीद दी है. तकरीबन एक दशक पहले पूर्व सीबीआई डायरेक्टर AP Singh के वक़्त CBI इंवेस्टिगटर्स के लिए जैकेट के पीछे CBI लिखा हुआ जैकेट पहनना अनिवार्य किया किया गया था उसके बाद से शायद ड्रेस कोड को लेकर देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी में ये पहला प्रसाशनिक आदेश है. इस ऑर्डर के मुताबिक पिछले कुछ वक्त से देखा जा रहा है कि कई officials/Staff ऑफिस में ठीक तरीके के कपड़े में नहीं आते हैं. इसलिए सभी एम्प्लॉयीज को अभी से बनाई गई गाइडलाइन्स का पालन करना होगा.

Mehul Choksi Case: मेहुल चोकसी के दस्तावेज़ों को लेकर गया प्राइवेट जेट डोमिनिका से उड़ा खाली हाथ

ऑफिस आर्डर में ये भी कहा गया है कि सभी हेड ऑफ ब्रांच गाइडलाइन्स के सख़्ती से पालन को सुनिश्चित करें. CBI सोर्सेज के मुताबिक ऑफिस का अपना एक अनुशासन होता है और सभी लोगों से उम्मीद की जाती है कि वो इसका पालन करें. ज़्यादातर एम्प्लॉयीज इसका पालन करते हैं. ये ऑर्डर उनके लिए है जो इसका पालन नहीं करते.

हालांकि ऑफिस ऑर्डर में साफ तौर से महिलाओं और पुरुषों के लिए ड्रेस कोड बताया गया है और इसका सख्ती से पालन करने को कहा गया है. इस ऑर्डर की कॉपी डायरेक्टर CBI, एडिशनल डायरेक्टर CBI और डायरेक्टर ऑफ प्रॉसिक्यूशन के PS और सभी ज़ोन के प्रमुख को भेजी गई है.
Published by:Rakesh Ranjan
First published: