Sushant Singh Rajput Case: सुशांत की बहनों का पुलिस को बयान- 2013 से ही थी मेंटल हेल्थ की समस्या!

Sushant Singh Rajput Case: सुशांत की बहनों का पुलिस को बयान- 2013 से ही थी मेंटल हेल्थ की समस्या!
सुशांत सिंह राजपूत

Sushant Singh Rajput Case में उनकी दो बहनों ने मेंटल हेल्थ की बात की है. प्रियंका और नीतू ने कहा है कि साल 2013 से सुशांत लो फील कर रहे थे. CBI के पास इन सभी के बयान हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 2, 2020, 8:59 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की कथित आत्महत्या के बाद से उनके परिजन जो दावा कर रहे हैं, उसमें काफी विरोधाभास नजर आ रहा है. मामले की जांच कर रही जांच एजेंसी केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) के पास 34 वर्षीय अभिनेता के निधन के दो दिन बाद महाराष्ट्र पुलिस को दिए गए तीन बयान हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, घटना के दो दिन बाद ही पुलिस को राजपूत की चार में से दो बहनें प्रियंका तंवर, नीतू सिंह और उनके बहनोई सिद्धार्थ तंवर ने बयान दिया था. सिद्धार्थ ने अपने बयान में कहा था कि 'सुशांत ने 'चिंता और अवसाद' के कारण आत्महत्या की और इसे लेकर किसी पर कोई संदेह या किसी के खिलाफ शिकायत नहीं थी.'

के के सिंह और परिवार के वकील विकास सिंह द्वारा के दावों के विपरीत बयान

ये बयान राजपूत के पिता केके सिंह और परिवार के वकील विकास सिंह द्वारा किए गए दावों के ठीक उलट हैं, जिसमें कहा गया है कि परिवार को अभिनेता के डिप्रेस्ड होने की कोई जानकारी नहीं थी. केके सिंह ने बिहार पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा था कि उन्हें साल 2019 से पहले राजपूत के मेंटल हेल्थ के बारे में जानकारी नहीं थी. उन्होंने अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती पर अपने बेटे को ड्रग्स का ओवरडोज देने का आरोप लगाया था. इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, राजपूत की दो बहनों और बहनोई के बयान के बारे विकास सिंह ने कहा, 'मुझे इसकी जानकारी नहीं है, इसलिए मैं कोई टिप्पणी नहीं कर सकता. मैं पुलिस जांच पर टिप्पणी नहीं करना चाहता.'इससे पहले एक रिपोर्ट के अनुसार सीबीआई जांच में पाया गया था कि राजपूत की मौत के छह दिन पहले उनकी बहन प्रियंका ने डिप्रेशन की दवाएं बताई थीं और उन्हें राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित राम मनोहर लोहिया अस्पताल में एक कार्डियोलॉजिस्ट से इन दवाओं की प्रिस्क्रिप्शन मिली थी. अपने बयान में हरियाणा कैडर के आईपीएस अधिकारी ओपी सिंह की पत्नी नीतू ने पुलिस को बताया था कि राजपूत साल 2013 में अंधेरी में एक मनोचिकित्सक से मदद मांगी थी.



16 जून के बयान में नीतू ने क्या कहा था?
नीतू ने 16 जून को मुंबई पुलिस को दिए एक बयान में कहा था कि 'साल 2013 में मेरे भाई सुशांत सिंह राजपूत ने मुझे और अन्य बहनों को बताया कि वह लो फील कर रहे हैं. हमने उसे भरोसा दिलाया और वह इससे बाहर निकल पाया. साल 2013 में सुशांत ने अंधेरी में एक मनोचिकित्सक से सलाह मशविरा किया था. उसके बाद उनका करियर अच्छा चल रहा था. उन्होंने बहुत कम समय में बहुत बड़ी सफलता हासिल की.' नीतू ने इसका भी जिक्र किया था कि साल 2002 में उनकी मां के निधन ने राजपूत को काफी परेशान किया. राजपूत अपनी मां के काफी करीब थे. अपने बयान में नीतू सिंह ने अक्टूबर साल 2019 से जुड़े एक मामले का जिक्र किया है, जिसमें सुशांत ने परिजनों को बताया था कि वह काफी लो फील कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि 'सुशांत अपने करियर में उतार चढ़ाव के चलते ऐसा फील कर रहे थे.'

नीतू ने बताई दिक्कत, मीतू आईं घर और 14 जून को की आत्महत्या...

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज