Home /News /nation /

cbi raids on multiple premises of congress leader karti chidambaram action going on in three states

कार्ति चिदंबरम के 9 ठिकानों पर CBI का छापा, चीनी नागरिकों से पैसे लेकर वीजा इश्यू कराने का आरोप

पूर्व केंद्री मंत्री पी. चिदंबरम (R) के बेटे कार्ति (L) के 11 ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की. (File Photo)

पूर्व केंद्री मंत्री पी. चिदंबरम (R) के बेटे कार्ति (L) के 11 ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की. (File Photo)

अवैध लेनदेन व आय से अधिक संपत्ति के एक पुराने मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने 17 मई को सुबह करीब 6 बजे पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति के 11 ठिकानों पर एक साथ छापे मारे. कार्ति के दिल्ली, चेन्नई और मुंबई स्थिति ठिकानों पर यह कार्रवाई चल रही है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: अवैध लेनदेन के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने 17 मई को सुबह करीब 6 बजे पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम के कई ठिकानों पर एक साथ छापामार कार्रवाई की. कार्ति चिदंबरम पर आरोप है कि उन्होंने कथित रूप से तलवंडी साबो पावर लिमिटेड प्रोजेक्ट के लिए काम कर रहे चीनी इंजीनियर्स से रिश्वत लेकर उनका वीजा इश्यू कराया. इस मामले में सीबीआई ने नया मामला दर्ज किया है. इसी सिलसिले में कार्ति चिदंबरम के चेन्नई, मुंबई, तमिलनाडु, पंजाब, दिल्ली, ओडिशा में स्थित करीब 9 ठिकानों पर सीबीआई ने छापा डाला है.

सूत्रों के मुताबिक पी. चिदंबरम के दिल्ली के जोरबाग और चेन्नई स्थित आवास पर भी सीबीआई ने छापेमारी की है. सीबीआई की कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए कार्ति चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘मैं गिनती भूल गया हूं, यह कितनी बार हुआ है? एक रिकॉर्ड होना चाहिए.’ सूत्रों की मानें तो केंद्रीय जांच एजेंसी ने कार्ति चिदंबरम के खिलाफ 2010-14 के बीच कथित तौर पर गलत तरीके से विदेशी फंड प्राप्त करने को लेकर एक नया मामला दर्ज किया है.

एयरसेल-मैक्सिस समझौते एवं विदेशी निवेश सवंर्धन बोर्ड द्वारा आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपये का विदेशी कोष प्राप्त करने की मंजूरी दिलाने से जुड़े कई आपराधिक मामलों में कार्ति चिदंबरम जांच का सामना कर रहे हैं. यह विदेशी कोष उनके पिता पी. चिदंबरम के वित्त मंत्री रहते प्राप्त किया गया था.  CBI ने INX Media के खिलाफ 15 मई, 2017 को एक एफआईआर दर्ज की थी.

आईएनएक्स मीडिया ग्रुप पर आरोप है कि 2007 में फॉरेन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी में कई तरह की अनियमितताएं बरतकर उसने 305 करोड़ रुपये का विदेशी फंड प्राप्त किया. जब कंपनी को विदेशी निवेश प्राप्त करने की स्वीकृति दी गई थी, उस समय पी. चिदंबरम देश के वित्त मंत्री थे. INX मीडिया इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी की कंपनी थी. कार्ति पर यह भी आरोप है कि उन्होंने इंद्राणी की कंपनी के खिलाफ टैक्स का एक मामला खत्म कराने के लिए अपने पिता के रुतबे का इस्तेमाल किया. पी. चिदंबरम भी इस केस में आरोपी हैं.

तिहाड़ जेल में 106 दिन बंद रहे थे पी. चिदंबरम
मार्च 2018 में इंद्राणी मुखर्जी ने CBI को दिए बयान में बताया था कि INX मीडिया को FIPB से मंजूरी दिलाने के लिए उनके और कार्ति चिदंबरम के बीच 10 लाख अमेरिकी डॉलर की एक डील हुई थी. इसके बाद जुलाई 2019 में दिल्ली हाईकोर्ट ने शीना वोरा हत्याकांड की मुख्य दोषी इंद्राणी को INX केस मामले में मुख्य गवाह बनाने की सहमति दे दी थी. इस मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को 21 अगस्त 2019 को CBI ने गिरफ्तार किया और फिर 16 अक्टूबर को इसी मामले में ED ने अरेस्ट किया था. तिहाड़ जेल में 106 दिन रहने के बाद सुप्रीम कोर्ट से 4 दिसंबर 2019 को उन्हें जमानत मिली. अब ED केस में भी सुप्रीम कोर्ट ने पी. चिदंबरम को जमानत दे दी है.

Tags: CBI, CBI Raid, Karti Chidambaram

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर