सीबीआई ने अजय गर्ग पर आय से अधिक संपत्‍ति का मामला किया दर्ज

अजय गर्ग पर तीन करोड़ रुपये से अधिक संपत्‍ति बनाने का आरोप है.


Updated: May 18, 2018, 9:29 AM IST
सीबीआई ने अजय गर्ग पर आय से अधिक संपत्‍ति का मामला किया दर्ज
प्रतीकात्मतक तस्वीर.

Updated: May 18, 2018, 9:29 AM IST
सीबीआई ने अपने यहां काम करने वाले सहायक प्रोग्रामर अजय गर्ग पर आय से अधिक संपत्‍ति का मामला दर्ज कर लिया है. अजय गर्ग पर तीन करोड़ रुपये से अधिक संपत्‍ति बनाने का आरोप है. अजय गर्ग पर आरोप है कि उसने अपने एक साथी के साथ मिलकर एक सॉफ्टवेयर डेवलप किया था. इस अवैध सॉफ्टवेयर की मदद से एजेंट रेलवे टिकट बुक करते थे. इस अवैध सॉफ्टवेयर से नुकसान आम लोगों को हो रहा था क्योंकि सॉफ्टवेयर के सहारे एजेंट टिकट बुक कर लेते थे और आम लोग आईआरसीटीसी वेबसाइट स्लो होने की बात करते थे.

2007 से 2011 तक आईआरसीटीसी में किया काम
दरअसल, अजय गर्ग 2007 से 2011 तक आईआरसीटीसी में ही काम करता था. वहीं उसने आईआरसीटीसी के खामियों के बारे में जाना और इस सॉफ्टवेयर को बनाया. सीबीआई के मुताबिक, गर्ग इसके बाद अनिल कुमार गुप्ता नाम के एजेंट से जुड़ा. वह एजेंट से सॉफ्टवेयर के बदले पैसे लेता था और हवाला, बिट क्‍वाइन के जरिये अजय गर्ग को पैसे देता था. सीबीआई के मुताबिक पिछले एक साल से ये सॉफ्टवेयर काम कर रहा था, लेकिन आरोपी अजय गर्ग कभी भी इस मामले में सामने नहीं आया.

2012 में यूपीएससी की परीक्षा पासकर सीबीआई में हुआ था नियुक्‍त

अजय गर्ग ने 2012 में यूपीएससी की परीक्षा दी और फिर पास होने के बाद सीबीआई में सहायक प्रोग्रामर के तहत ज्‍वाइन किया. फिलहाल, गर्ग को दिल्ली की साकेत कोर्ट ने 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है. जबकि आरोपी अनिल कुमार गुप्ता को सीबीआई ट्रांजिट रिमांड पर उत्तर प्रदेश के जौनपुर से दिल्ली लेकर आ रही है. आरोपी अनिल को सीबीआई गुरुवार को दिल्ली के साकेत कोर्ट में पेश करेगी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर