रोल्स रॉयस के खिलाफ सीबीआई ने भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया

सीबीआई ने ऑटोमोबाइल कंपनी रोल्स रॉयस और इसकी भारतीय सहायक कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज किया है सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों नवरत्न पीएसयू एचएएल, ओएनजीसी और गेल के अनुबंध हासिल करने के लिए भारत में एक एजेंट की कथित रूप से सेवाएं लेने पर मामला दर्ज किया है

News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 3:11 PM IST
रोल्स रॉयस के खिलाफ सीबीआई ने भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया
रोल्स रॉयस के खिलाफ सीबीआई ने भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया,फिलहाल रोल्स रॉयस की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.
News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 3:11 PM IST
केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने 2007 से 2011 के बीच सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों एचएएल, ओएनजीसी और गेल के ठेके हासिल करने के लिए एक एजेंट को 77 करोड़ रुपये से अधिक की कथित कमीशन देने से जुड़े भ्रष्टाचार के मामले में लंदन स्थित ऑटोमोबाइल कंपनी रोल्स रॉयस के खिलाफ मामला दर्ज किया. एजेंसी द्वारा पांच साल तक चली जांच के बाद यह कार्रवाई की गई है. कंपनी ने अपने एजेंट की घोषणा वर्ष 2013 में की. इस प्रकार रॉल्स रॉयस ने नियम का उल्लंघन किया. रक्षा मंत्रालय की शिकायत के आधार पर जांच शुरू की गई थी.

दरअसल, मंत्रालय को रोल्स रॉयस द्वारा सिंगापुर में रहने वाले अशोक पाटनी तथा उसकी कंपनी आशमोरे प्राइवेट लिमिटेड की सेवाएं लेने की शिकायत मिली थी. रक्षा मंत्रालय को रोल्स रॉयस के पाटनी के साथ संबंधों के बारे में पत्र मिला था जिसे जांच के लिए सीबीआई के पास भेजा गया था.

अधिकारियों ने आरोप लगाया है कि 2000 से 2013 के बीच एचएएल के साथ रोल्स रॉयस का कुल कारोबार 4700 करोड़ रुपये का रहा. आरोप है कि रोल्स रॉयस ने 2007 से 2011 के बीच एचएएल को एवन एवं एलीसन इंजन के पुर्जों के सौ आर्डर में ‘‘वाणिज्यिक सलाहकार’’ के रूप में पाटनी को 18 करोड़ रुपये का भुगतान किया.

एजेंसी ने आरोप लगाया कि पुर्जों की आपूर्ति के लिए ओएनजीसी और गेल के साथ रोल्स रॉयस के सीधे ठेकों के लिए भी पाटनी की सेवाएं ली गईं. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि रोल्स रॉयस ने गेल को आपूर्ति के लिए 2007 से 2010 के दौरान कुल 28.09 करोड़ रुपये के कमीशन का भुगतान किया. फिलहाल रोल्स रॉयस की तरफ से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 31, 2019, 3:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...