CBSE की 12वीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने का फैसला छात्र हित में: PM नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी की अध्यक्षता में 12वीं की परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया गया है. (फाइल फोटो)

पीएम मोदी की अध्यक्षता में 12वीं की परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया गया है. (फाइल फोटो)

CBSE 12th exam cancelled 2021: पीएम मोदी ने कहा कि छात्रों, अभिभावकों, शिक्षकों के बीच तनाव खत्म होना चाहिए; ऐसी तनावपूर्ण स्थिति में छात्रों को परीक्षा में बैठने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए.

  • Share this:

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus Second Wave) के प्रकोप को देखते हुए सीबीएसई बोर्ड की 12वीं कक्षा (CBSE Board 12th Exams) की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में हुई बैठक में परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया गया. सरकार की ओर से जानकारी दी गई कि बारहवीं कक्षा के परिणाम समयबद्ध तरीके से अच्छी तरह से परिभाषित वस्तुनिष्ठ मानदंडों के अनुसार तैयार किए जाएंगे. बैठक के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा रद्द करने का निर्णय छात्रों के हित में लिया गया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि छात्रों की सुरक्षा और स्वास्थ्य सर्वाधिक महत्वपूर्ण हैं और उस संबंध में कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

पीएम मोदी ने कहा कि छात्रों, अभिभावकों, शिक्षकों के बीच तनाव खत्म होना चाहिए; ऐसी तनावपूर्ण स्थिति में छात्रों को परीक्षा में बैठने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए. केंद्र ने कहा कि बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा अधिकारियों द्वारा विस्तृत प्रस्तुति की समीक्षा तथा राज्यों सहित सभी हितधारकों के साथ परामर्श के बाद रद्द की गयी. पीएम मोदी ने कहा कि अगर कुछ छात्र परीक्षाएं देने के इच्छुक हैं तो ऐसी सूरत में परिस्थिति के अनुकूल होने पर सीबीएसई द्वारा उन्हें अवसर प्रदान किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- टीकाकरण-कोरोना इलाज पर सवाल खड़े करने वाले देशद्रोही, IMA का रामदेव पर निशाना

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोविड-19 ने शैक्षिक कैलेंडर को प्रभावित किया है; व्यापक विचार-विमर्श के बाद छात्र हित में निर्णय लिया गया.
केजरीवाल और सिसोदिया ने जताई खुशी

वहीं केंद्र सरकार के इस फैसले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद ने सरकार के फैसले पर कहा कि, "मैं खुश हूं कि 12वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द हो गईं. हम सभी अपने बच्चों की सेहत को लेकर चिंतित थे. एक बड़ी राहत."

वहीं दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने लिखा, "मुझे बहुत ख़ुशी है कि देश के 1.5 करोड़ बच्चों की 12वीं की अंतहीन होती क्लास आख़िरकार अब ख़त्म होगी. परीक्षा कराने की ज़िद बच्चों की सुरक्षा पर बहुत भारी पड़ रही थी."




वहीं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने लिखा कि- मंत्रियों, राज्यों और छात्रों से चर्चा करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने आज युवाओं की सेहत और भविष्य को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई बोर्ड की 12वीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने का ऐलान किया है. यह एक अच्छा फैसला है और नई पीढ़ी के लिए एक बड़ा कदम है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज