सीबीएसई 12वीं कक्षा के परिणाम की गणना में स्कूलों की मदद के लिये बना रहा है आईटी प्रणाली

स्कूलों से 10वीं कक्षा के अंक 30 जून तक जमा करने को कहा गया है जबकि 12वीं कक्षा के लिये स्कूलों को 15 जुलाई की समयसीमा दी गई है.

सीबीएसई ने सभी संबद्ध स्कूलों को पत्र लिखकर सूचित किया है कि वह 12वीं कक्षा के परिणामों की गणना के लिए एक आईटी प्रणाली विकसित कर रहा है. सीबीएसई का कहना है कि वह अगले सप्ताह से कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं के परिणाम तैयार करने में स्कूलों की सहायता के लिए एक हेल्प डेस्क भी स्थापित करेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) 12वीं कक्षा के परिणामों की गणना के लिए एक आईटी प्रणाली विकसित कर रहा है ताकि आकलन कार्य में आसानी हो और समय की बचत की जा सके.

    कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के कारण सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा को रद्द कर दिया था. बोर्ड ने परीक्षा परिणाम के संबंध में इन दोनों कक्षाओं के लिये वैकल्पिक मूल्यांकन नीति की घोषणा की है. स्कूलों से 10वीं कक्षा के अंक 30 जून तक जमा करने को कहा गया है जबकि 12वीं कक्षा के लिये स्कूलों को 15 जुलाई की समयसीमा दी गई है.

    सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि आप जानते हैं कि सीबीएसई ने “बारहवीं बोर्ड परीक्षा 2021 के लिए अंकों के सारणीकरण के लिए नीति” जारी की है. इस संबंध में, सीबीएसई ने अपने स्कूलों के परिणाम की तैयारी में परिणाम समिति / स्कूलों की सहायता करने का निर्णय लिया है.

    उन्होंने कहा कि तदनुसार, एक आई.टी. सिस्टम को आंतरिक रूप से विकसित किया जा रहा है जो परिणामों की गणना के लिए बारहवीं कक्षा वाले सभी संबंधित स्कूलों को उपलब्ध कराया जाएगा.

    इस संबंध में जारी नोटिस में कहा गया है कि सिस्टम गणना के काम के बोझ को कम करेगा, लगने वाले समय और कई अन्य परेशानियों को भी कम करेगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.