CCD मामले में नया खुलासा: मछुआरे का दावा 7.30 बजे एक आदमी को नदी में कूदते देखा

मछुआरे का कहना है कि वो अपनी नाव पर सवार था. उसने घटनास्थल पर जाना चाहा लेकिन वहां उसे कोई भी नहीं मिला.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 6:05 PM IST
CCD मामले में नया खुलासा: मछुआरे का दावा 7.30 बजे एक आदमी को नदी में कूदते देखा
मछुआरे का कहना है कि वो अपनी नाव पर सवार था. उसने घटनास्थल पर जाना चाहा लेकिन वहां उसे कोई भी नहीं मिला.
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 6:05 PM IST
सोमवार बेंगलुरु से करीब 350 किलोमीटर दूर मंगलूर की नेत्रवती नदी के पास लापता हुए वीजी सिद्धार्थ देशभर में चर्चा का विषय बने हुए हैं. पुलिस लगातार उनकी खोजबीन में लगी हुई है. लेकिन अब सूत्रों के हवाले से एक बड़ी खबर सामने आई है. दरअसल सीसीडी के लापता मालिक वीजी सिद्धार्थ को लेकर मछुआरे ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. मछुआरे ने दावा किया है कि उसने सुबह करीब 7.30 बजे एक आदमी को नदी में कूदते हुए देखा था. मछुआरे का कहना है कि उसने आठवें पिलर के पास एक शख्स को नदी में कूदते हुए देखा था. मछुआरे का कहना है कि वो अपनी नाव पर सवार था. उसने घटनास्थल पर जाना चाहा लेकिन वहां उसे कोई भी नहीं मिला.

लापता होने से पहले लिखी थी चिट्ठी

सिद्धार्थ ने लापता होने से पहले कंपनी के कर्मचारियों और निदेशक मंडल को कथित तौर पर लिखे पत्र में कहा, ‘‘मैं एक उद्यमी के तौर पर विफल रहा.’’

हालांकि इस बात की तत्काल पुष्टि नहीं हो सकी है कि यह पत्र स्वयं उन्होंने लिखा है. हालांकि यह खत उनके लैटरहैड पर है और उनके इस पर दस्तखत भी हैं.

इस पत्र में उन्होंने कहा, “मैं कहना चाहता हूं कि मैंने इसे सबकुछ दे दिया. मैं उन सभी लोगों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरने के लिए माफी मांगना चाहता हूं, जिन्होंने मुझ पर भरोसा किया.”

सिद्धार्थ ने कहा कि उन्होंने लंबे समय तक लड़ाई लड़ी लेकिन, “आज मैं हिम्मत हार रहा हूं क्योंकि मैं निजी इक्विटी साझेदारों में से एक की तरफ से शेयर वापस खरीदे जाने का और दबाव नहीं झेल सकता हूं, एक लेन-देन जो मैंने छह माह पहले एक दोस्त से बड़ी मात्रा में धन राशि उधार लेकर आंशिक तौर पर पूरा किया था.”

उन्होंने कहा, “अन्य कर्जदाताओं की तरफ से अत्याधिक दबाव ने मुझे स्थिति के आगे झुक जाने पर मजबूर किया है.”
Loading...

सिद्धार्थ ने पत्र में आरोप लगाया कि आयकर के पूर्व महानिदेशक ने बहुत उत्पीड़न किया जिन्होंने, “हमारे माइंडट्री सौदे को रोकने के लिए दो अलग-अलग मौकों पर हमारे शेयर जब्त कर लिए और बाद में हमारे कॉफी डे शेयर का अधिकार ले लिया जबकि हमने फिर से रिटर्न दाखिल कर दिया है.”

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 5:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...