लाइव टीवी

तीनों सेनाओं के 1+1+1 का जोड़ ‘पांच या सात’ होना चाहिए, न कि तीन: जनरल रावत

भाषा
Updated: January 1, 2020, 9:12 PM IST
तीनों सेनाओं के 1+1+1 का जोड़ ‘पांच या सात’ होना चाहिए, न कि तीन: जनरल रावत
देश के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि देश की तीनों सेनाओं के लिए 1+1+1 तीन के बजाए पांच या सात होना चाहिए (फोटो- AP)

सीडीएस (CDS) के रूप में पदभार (Charge of Office) ग्रहण करने वाले जनरल रावत (General Rawat) ने कहा कि सेवाओं का समन्वित प्रयास सबका जोड़ नहीं होना चाहिए, बल्कि इससे कहीं अधिक होना चाहिए.

  • Share this:
नई दिल्ली. थल सेना (Army), नौसेना (Navy) और वायु सेना (Air Force) के एकीकरण पर जोर देते हुए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने बुधवार को कहा कि यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि समन्वित कार्रवाई के जरिए तीन सेवाओं के “1+1+1 का जोड़” “पांच या सात हो न कि तीन हो.”

सीडीएस (CDS) के रूप में पदभार ग्रहण करने वाले जनरल रावत (General Rawat) ने कहा कि सेवाओं का समन्वित प्रयास सबका जोड़ नहीं होना चाहिए, बल्कि इससे कहीं अधिक होना चाहिए.

तीनों सेनाओं को आवंटित संसाधनों के सर्वश्रेष्ठ और अधिकतम उपयोग पर होगा ध्यान
जनरल रावत ने तीनों सेनाओं से गार्ड ऑफ ऑनर (Guard of Honour) लेने के बाद कहा कि इस बात पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा कि तीनों सेनाओं को आवंटित किए गए संसाधनों (Allocated Resources) का सर्वश्रेष्ठ और अधिकतम उपयोग हो.

जनरल रावत के सीडीएस के रूप में पदभार (Charge of Office) ग्रहण करते समय तीनों सेवाओं के प्रमुख - थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (Manoj Mukund Naravane), वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह मौजूद थे.

'तीनों सेवाओं के 1+1+1 का जोड़ मिलकर पांच या सात हो न कि तीन हो'
जनरल रावत ने यह भी कहा कि सीडीएस (CDS) के तौर पर उनका लक्ष्य तीनों सेवाओं के बीच समन्वय और एक टीम की तरह काम करने पर केंद्रित होगा.उन्होंने कहा, “सीडीएस सेना को अपने निर्देशों के अनुसार चलाने की कोशिश नहीं करेगा. एकीकरण (Integration) की जरूरत है. हमें सुनिश्चित करना होगा कि तीनों सेवाओं के 1+1+1 का जोड़ मिलकर पांच या सात हो न कि तीन हो. आपको तालमेल और एकीकरण के जरिए अधिक हासिल करना होगा, सीडीएस का यही उद्देश्य है.”

खरीद की प्रणाली में एकरूपता और एकीकरण सुनिश्चित करने की बताई जरूरत
एकीकरण और संयुक्त प्रशिक्षण पर जोर देने के अलावा उन्होंने कहा कि खरीद की प्रणाली में एकरूपता और एकीकरण सुनिश्चित करने की जरूरत है, ताकि सेना, नौसेना और वायुसेना एक दूसरे के साथ समन्वय (Coordination) में काम कर सकें.

जनरल रावत ने “1+1+1 जोड़” वाले बयान के बारे में पूछने पर कहा कि “जैसे आप कहते हैं कि 1+1 मिलकर दो नहीं, बल्कि 11 होते हैं, उसी तरह मैं कहता हूं कि जब आप तालमेल (Synergy) के साथ काम करते हैं तो 1+1+1 को तीन नहीं होना चाहिए, आप इस जोड़ से कहीं अधिक इसे बढ़ा सकते हैं.”

यह भी पढ़ें: CDS का पद बनाना साहसिक कदम, इसे सफल बनाना सेनाओं का दायित्व : एयरचीफ मार्शल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 1, 2020, 9:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर