CDS रावत ने किया चीन सीमा पर आर्मी बेस कैम्प का दौरा, कहा- भारतीय सेना का कोई मुकाबला नहीं

सीडीएस बिपिन रावत की फाइल फोटो.

सीडीएस बिपिन रावत की फाइल फोटो.

India China border tension: सीडीएस रावत ने वहां सीमा की प्रभावी निगरानी की व्यवस्था और जरूरत पड़ने पर सैन्य अभियानों की तैयारियों का जायजा लिया. सैन्य ठिकानों का जायजा लेने के बाद रावत ने दावा किया कि सिर्फ भारतीय सैनिक ही ऐसी परिस्थितियों में सीना तानकर खड़े रह सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 7:34 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के तौर पर एक साल पूरे होने पर जनरल बिपिन रावत (CDS general bipin rawat) ने शनिवार को अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) और असम (Assam) में चीन सीमा (China Border) के पास भारतीय सैन्य ठिकानों का दौरा किया. सीडीएस रावत ने वहां सीमा की प्रभावी निगरानी की व्यवस्था और जरूरत पड़ने पर सैन्य अभियानों की तैयारियों का जायजा लिया. सैन्य ठिकानों का जायजा लेने के बाद रावत ने दावा किया कि सिर्फ भारतीय सैनिक ही ऐसी परिस्थितियों में सीना तानकर खड़े रह सकते हैं.

उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिक ऐसी चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में सतर्क हैं. भारतीय सैनिकों को कोई नहीं रोक सकता है. वह अपने कर्तव्य के प्रति अडिग हैं.

सीमाओं की सुरक्षा प्राथमिक चिंता

रावत ने कहा, 'भारत के लिए सीमाओं की सुरक्षा एक प्राथमिक चिंता है. इसलिए, खतरों और चुनौतियों की प्रकृति के सही आंकलन के आधार पर हमारे सशस्त्र बलों द्वारा किए जाने वाले आधुनिकीकरण कार्यक्रमों को सुनिश्चित करने के लिए एकीकृत संरचनाओं को विकसित करने की आवश्यकता है.' उन्होंने कहा, 'हम हमारे क्षेत्र में स्थिरता और शांति सुनिश्चित करने के लिए समान विचारधारा वाले राष्ट्रों के साथ भी साझेदारी कर रहे हैं.'
ये भी पढ़ेंः- वर्क फ्रॉम होम के लिए सरकार ने जारी किया ड्राफ्ट, अप्रैल में लागू हो सकते हैं नए नियम

Youtube Video

बता दें कि कुछ दिनों पहले भारत-चीन सीमा विवाद पर राजनाथ सिंह ने कहा था कि चीन के साथ लद्दाख सीमा पर जारी विवाद (Ladakh Border Dispute) का अभी कोई ठोस निष्कर्ष नहीं निकला है. LAC पर यथास्थिति बनी हुई है. रक्षा मंत्री ने कहा, 'चीन के साथ बातचीत का सिलसिला जारी है, जल्द ही सैन्य लेवल की एक और चर्चा होनी है. हालांकि, अभी तक जो भी चर्चा हुई है उसका कोई नतीजा नहीं निकला है, अभी यथास्थिति बनी हुई है लेकिन वो भी सही नहीं है.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज