लाइव टीवी

पाकिस्तान ने पुंछ में शाहपुर, किरनी सेक्टरों में की गोलाबारी, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

भाषा
Updated: February 4, 2020, 8:52 PM IST
पाकिस्तान ने पुंछ में शाहपुर, किरनी सेक्टरों में की गोलाबारी, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब
एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से बिना उकसावे के गोलीबारी की गई, भारतीय सेना इसका मुंहतोड़ जवाब दे रही है

कुपवाड़ा (Kupwara) जिले के तंगधार सेक्टर में एलओसी पर हाल में पाकिस्तानी गोलाबारी में 60 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और चार अन्य घायल हो गये थे.

  • Share this:
जम्मू. पाकिस्तान सेना (Pakistani Army) ने मंगलवार को जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुंछ (Poonch) जिले में नियंत्रण रेखा (Line of Control) पर बिना उकसावे के गोलीबारी और गोलाबारी की. एक रक्षा प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया, ‘‘पाकिस्तान ने पुंछ जिले में शाहपुर (Shahpur) और किरनी सेक्टरों (Kirni Sector) में एलओसी (LoC) पर शाम लगभग साढ़े चार बजे बिना उकसावे के छोटे हथियारों से गोलीबारी और मोर्टार से गोलाबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया. भारतीय सेना (Indian Army) जवाबी कार्रवाई कर रही है.’’ उन्होंने कहा कि इसमें किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है.

पाक की गोलीबारी में एक नागरिक की मौत
कुपवाड़ा (Kupwara) जिले के तंगधार सेक्टर में एलओसी पर हाल में पाकिस्तानी गोलाबारी में 60 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और चार अन्य घायल हो गये थे. पाकिस्तानी सेना ने पुंछ के बालाकोट और मेंधर सेक्टरों में गत दो फरवरी को अग्रिम चौकियों और गांवों को निशाना बनाया था जिसमें तीन मकान क्षतिग्रस्त हो गये थे.

पूर्व मंत्री सैयद मोहम्मद अल्ताफ बुखारी ने कुपवाड़ा में पाकिस्तानी गोलाबारी में मोहम्मद सलीम अवान की मौत को लेकर दुख व्यक्त किया और जम्मू कश्मीर में सीमावर्ती क्षेत्रों के निवासियों के लिए तत्काल भूमिगत बंकर बनाये की केन्द्र से अपील की.

आम लोगों के लिए चिंता का सबब
बुखारी ने कहा, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सर्दियों के दौरान भी गोलाबारी की घटनाओं में कोई कमी नहीं आ रही है जो जम्मू कश्मीर के सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले आम लोगों के अधिक चिंता का कारण है.’’

पिछले साल अगस्त से जम्मू कश्मीर में एलओसी पर संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं में वृद्धि को इंगित करने वाली रक्षा मंत्रालय की एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए बुखारी ने कहा कि सरकार को सीमावर्ती इलाकों, विशेषकर उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा, बारामुला और बांदीपुरा जिलों में भूमिगत बंकरों के तेजी से निर्माण को मंजूरी और आदेश देने चाहिए.ये भी पढ़ें-
CAA प्रदर्शन पर बोले ओवैसी- मुस्लिम महिलाओं से डर क्यों रहे हैं PM मोदी?

पुलिस की मदद से हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा सका कोरोना वायरस का संदिग्ध

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 8:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर