वायुसेना आज मना रही 88वां स्थापना दिवस, आसमान में गरजेंगे राफेल समेत कई फाइटर जेट

आज आसमान में गरजेगा राफेल.
आज आसमान में गरजेगा राफेल.

6 अक्‍टूबर को भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के 88वें स्थापना दिवस की तैयारियों के तहत हिंडन बेस पर फुल ड्रेस रिहर्सल किया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 7:20 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) गुरुवार को अपना 88वां स्‍थापना दिवस (Air force Day 2020) मना रही है. चीन से तनाव के बीच गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस (Hindon Airbase) पर वायुसेना का शौर्य देखने को मिलेगा. 1932 में भारतीय वायुसेना की स्थापना के मौके में वायुसेना दिवस मनाया जाता है. गाजियाबाद में हिंडन एयरबेस पर वार्षिक परेड में विभिन्न विमानों को प्रदर्शित किया जाएगा. हाल में वायुसेना में शामिल राफेल विमान भी आज परेड में हिस्सा लेगा.

वायुसेना दिवस के कार्यक्रम में इस बार 56 विमान हिस्‍सा लेंगे. ये सभी विमान आसमान में अपनी ताकत दिखाएंगे. इनमें तेजस एलसीए, मिग-29, जगुआर, मिग-21 और सुखोई-30 युद्धक विमानों के अलावा हाल ही वायुसेना बेड़े में शामिल राफेल जेट विमान भी हिस्सा लेंगे. कार्यक्रम की शुरुआत सुबह 8 बजे होनी है.

इससे पहले 6 अक्‍टूबर को भारतीय वायुसेना के 88वें स्थापना दिवस की तैयारियों के तहत हिंडन बेस पर फुल ड्रेस रिहर्सल किया गया था. इस रिहर्सल में वायुसेना के एमआई-17 वी5, एएलएच मार्क-4, चिनूक, एमआई-35 और अपाचे हेलीकॉप्टरों समेत अन्‍य विमानों ने भी हिस्सा लिया था.



इसके अलावा वायु सेना के परिवहन विमानों सी-17, सी-130, डोर्नियर और डीसी-3 डकोटा विमानों ने भी भाग लिया था. सूर्यकिरण विमानों के एरोबेटिक दल और सारंग विमानों ने भी फ्लाई पास्ट में करतब दिखाए थे.

वायुसेना के मुताबिक 8 अक्टूबर को वायुसेना दिवस की परेड में दूसरे विमानों के साथ ही राफेल विमान भी हिस्सा लेगा. वायुसेना ने एक ट्वीट में कहा था, 'राफेल 4.5 पीढ़ी का लड़ाकू विमान है. दोहरे इंजन ओम्नीरोल के साथ हवाई टोही, सटीकता से वार, जहाज रोधी और परमाणु संपन्न, हथियारों से लैस है.' वायुसेना में औपचारिक रूप से 10 सितंबर को पांच राफेल लड़ाकू विमान शामिल किए गए थे. इससे देश की वायु क्षमता में जबरदस्त बढ़ोतरी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज