केंद्र का राज्यों को निर्देश- सार्वजिनक मंच पर साझा न करें वैक्सीन स्टोरेज से जुड़ी जानकारी

केंद्र ने वैक्सीन के रख रखाव को लेकर निर्देश जारी किए हैं. (File pic)

केंद्र ने वैक्सीन के रख रखाव को लेकर निर्देश जारी किए हैं. (File pic)

सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सभी मिशन निदेशकों को भेजे गए पत्र में कहा गया है, ‘‘यह बहुत ही संवेदनशील सूचना है और इसका इस्तेमाल केवल कार्यक्रम में सुधार के लिए किया जाना चाहिए.’’

  • Share this:

नई दिल्ली. केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर सुझाव दिया है कि वे टीकों के भंडार और टीका भंडारण तापमान (Vaccine Storage Temperature) के संबंध में ‘इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलीजेंस नेटवर्क’ (EVIN) के आंकड़े सार्वजनिक मंचों पर साझा न करें. केंद्र ने अपने सुझाव में यह भी कहा है कि, यह ‘‘संवेदनशील सूचना है और इसका इस्तेमाल केवल कार्यक्रम में सुधार के लिए किया जाना चाहिए.’’

राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को हाल में भेजे गए एक पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि केंद्र ने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के सहयोग से यूआईपी के तहत ईविन की शुरुआत की है जिसका इस्तेमाल राष्ट्रीय से लेकर उप जिला स्तर तक टीका भंडारण के सभी स्तरों पर टीकों के भंडार की स्थिति और तापमान पर नजर रखने के लिए किया जाता है.

दैनिक आधार पर अपडेट की जा रही वैक्सीन की जानकारी

स्वास्थ्य मंत्रालय ने पत्र में कहा कि यह देखकर अच्छा लग रहा है कि सभी राज्य प्रणाली का इस्तेमाल दैनिक आधार पर कोविड रोधी टीकों के भंडार और लेन-देन संबंधी जानकारी के अद्यतन के लिए कर रहे हैं.
मंत्रालय ने कहा, ‘‘इस संबंध में, कृपया सलाह दी जाती है कि भंडार और तापमान से जुड़े ईविन संबंधी आंकड़ों और विश्लेषण पर स्वास्थ्य मंत्रालय का स्वामित्व है और मंत्रालय की अनुमति के बिना ये किसी अन्य संगठन, साझेदार एजेंसी, मीडिया एजेंसी को, ऑनलाइन और ऑफलाइन साझा नहीं किए जाने चाहिए.’’

प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य (आरसीएच) कार्यक्रम के सलाहकार प्रदीप हलदर ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सभी मिशन निदेशकों को भेजे गए पत्र में कहा गया है, ‘‘यह बहुत ही संवेदनशील सूचना है और इसका इस्तेमाल केवल कार्यक्रम में सुधार के लिए किया जाना चाहिए.’’

राज्यों के पास अभी भी वैक्सीन की 1.33 खुराकें



बता दें मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीकों की 1.33 करोड़ से अधिक खुराक अब भी मौजूद हैं तथा तीन लाख से अधिक खुराकें अगले तीन दिन के भीतर उन्हें मिल जाएंगी. उसने बताया कि अब तक राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों को 25 करोड़ से अधिक खुराकें दी गई हैं. ये खुराकें उन्हें भारत सरकार की ओर से नि:शुल्क तरीके से तथा राज्यों द्वारा सीधे खरीद की श्रेणी में दी गई हैं.

मंत्रालय ने बुधवार सुबह आठ बजे तक उपलब्ध आंकड़ों के हवाले से बताया कि कुल 23,74,21,808 खुराकों (बरबाद हुए टीकों समेत) का इस्तेमाल हुआ है. उसने बताया, ‘‘ राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीकों की कुल 1,33,68,727 खुराक अब भी मौजूद हैं. इसके अलावा, अगले तीन दिन में और 3,81,750 खुराकें उन्हें उपलब्ध करवाई जाएंगी.’’


उल्लेखनीय है कि राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत भारत सरकार राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को नि:शुल्क टीके दे रही है. इसके अलावा राज्य टीकों की सीधी खरीद भी कर सकते हैं. कोविड टीकाकरण का तीसरा चरण देश में एक मई को आरंभ हुआ था. महामारी से निबटने की सरकार की व्यापक रणनीति का एक अहम स्तंभ टीकाकरण है.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज