• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कोवैक्सीन की दोनों खुराक के बाद क्या लगेगा बूस्टर डोज? जानें केंद्र ने क्या कहा

कोवैक्सीन की दोनों खुराक के बाद क्या लगेगा बूस्टर डोज? जानें केंद्र ने क्या कहा

 भारत सरकार सितंबर महीने से तीन और दवा कंपनियां टीकों की सप्लाई शुरू कर देगी. (सांंकेतिक तस्वीर)

भारत सरकार सितंबर महीने से तीन और दवा कंपनियां टीकों की सप्लाई शुरू कर देगी. (सांंकेतिक तस्वीर)

Covaxin Booster Dose: भारत में दिसंबर तक 18 से ज्यादा की उम्र की 80 फीसदी से ज्यादा आबादी का टीकाकरण पूरा हो जाएगा. वहीं सरकार का कहना है कि देश में सबके लिए वैक्सीन उपलब्ध है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोवैक्सीन के दो टीकों के बाद बूस्टर डोज (Covaxin Booster Dose) की अफ़वाह पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने विराम लगा दिया है. सूत्रों का दावा है किसी भी साइंटिफ़िक कम्युनिटी ने इस बारे में सरकार न कोई सलाह दी है और न ही कोई सुझाव दिया है. ऐसे में भारत में इसे लेकर कोई विचार नहीं किया जा रहा है. बता दें कोवैक्सीन को विश्व स्वास्थ संगठन की ओर से जल्द आपातकालीन इस्तेमाल की अनुमति मिल सकती है. भारत सरकार ने इसके लिए काग़ज़ी कार्रवाई पूरी कर ली है और इसी महीने के अंत तक इसे औपचारिक मंज़ूरी भी मिल जाएगी. बता दें भारत में दिसंबर तक 18 से ज्यादा की उम्र की 80 फीसदी से ज्यादा आबादी का टीकाकरण पूरा हो जाएगा. वहीं सरकार का कहना है कि देश में सबके लिए वैक्सीन उपलब्ध है.

बता दें भारत सरकार सितंबर महीने से तीन और दवा कंपनियां टीकों की सप्लाई शुरू कर देगी. भारत में अब कुल 6 कंपनियां कोरोना की वैक्सीन का निर्माण करेंगी. अभी तक तीन कंपनियां सरकार को वैक्सीन की सप्लाई कर रही है. अगस्त में 20 करोड़ डोज और सितंबर में 25 करोड़ डोज केंद्र सरकार के पास होंगे. अगस्त महीने में 60 से 65 लाख डोज दिए जाएंगे. जरूरत के मुतबिक एक करोड़ डोज मौजूद होंगे और लोगों की जरूरत के हिसाब उनकी मांग पूरी की जाएगी. राज्य सरकारों के पास बुधवार तक तीन करोड़ और राज्यों के निजी अस्पतालों के पास दो करोड़ डोज का स्टॉक था.

ये भी पढ़ें- कोरोना की तीसरी लहर में आएंगे कितने केस? जानिए टॉप विशेषज्ञ ने क्या कहा

WHO ने की है बूस्टर डोज न देने की अपील
बता दें विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सितंबर के अंत तक कोविड-19 टीकों की बूस्टर खुराक पर ‘‘रोक’’ लगाने की बुधवार को अपील करते हुए गरीब और अमीर देशों के बीच टीकाकरण में विसंगति पर चिंता प्रकट की थी.

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अधोनम गेब्रेयेसस ने जिनेवा में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अमीर देशों में प्रति 100 लोगों को अब तक टीके की करीब 100 खुराक दी जा चुकी है, जबकि टीके की आपूर्ति के अभाव में कम आय वाले देशों में प्रति 100 व्यक्तियों पर सिर्फ 1.5 खुराक दी जा सकी हैं.

डब्ल्यूएचओ अधिकारियों ने कहा कि विज्ञान में अभी यह बात साबित नहीं हुई है कि टीके की दो खुराक ले चुके लोगों को बूस्टर खुराक देना कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार रोकने में प्रभावी होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज