• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • CENTER STATES EMBROILED IN SUPPLY DISPUTE BETWEEN CORONAVIRUS PANDEMIC

कोरोना जंग के बीच 'सप्लाई विवाद' में उलझे केंद्र-राज्य! लाभार्थी हो रहे परेशान

राज्य और केंंद्र सरकार के बीच में सप्लाई को लेकर रार जारी है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

Coronavirus Supply Dispute: दिल्ली सरकार (Delhi Government) के मुताबिक, राजधानी में हालात इतने खराब हो चुके हैं कि सप्लाई न होने की स्थिति में सरकार को कई वैक्सीन केंद्र बंद करने पड़ सकते हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) से जंग के बीच भारत में सियासी संघर्ष भी जारी है. एक के बाद एक नए मुद्दों पर राज्य और केंद्र सरकार (Central Government) के बीच विवाद बना हुआ है. ऑक्सीजन (Oxygen) और दवा सप्लाई जैसी कई बातें इनमें शामिल हैं. हाल ही में ताजा रार प्रदेशों में वैक्सीन सप्लाई को लेकर जारी है. ऐसे में एक आम आदमी जिसे मामले की पूरी तरह जानकारी नहीं है, वो भी इसमें परेशान होता जा रहा है.

    इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र और राज्य सरकार दोनों मई में वैक्सीन ऑर्डर के अलग-अलग आंकड़े पेश कर रहे हैं. दिल्ली सरकार के मुताबिक, राजधानी में हालात इतने खराब हो चुके हैं कि सप्लाई न होने की स्थिति में सरकार को कई वैक्सीन केंद्र बंद करने पड़ सकते हैं. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कहते हैं, 'हम केंद्र से और ज्यादा डोज के लिए कह रहे हैं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. अगर यही हालात रहे, तो हमें वैक्सीन सेंटर्स बंद करने होंगे. हमें वैक्सीन चाहिए, जो केंद्र उपलब्ध नहीं करा रहा है.'



    COVID-19: भारतीय वैरिएंट का विश्व में कोहराम, WHO ने कहा- 44 देशों में हुई पुष्टि

    केंद्र ने भी किया पलटवार
    डिप्टी सीएम सिसोदिया के बयान पर सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा, 'केंद्र ने दिल्ली को जरूरत के डोज उपलब्ध कराए हैं, लेकिन उनकी तरफ से कुछ कुप्रबंधन है.' पात्रा ने आरोप लगाए, 'वैक्सीन संभालने के बजाए, वे केंद्र पर आरोप लगा रहे हैं.' सिसोदिया ने दावा किया है कि उनकी सरकार ने 1.34 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया था, लेकिन केंद्र ने मई के लिए केवल 3.5 लाख डोज ही मंजूर किए.

    हालांकि, इससे आम आदमी खासा परेशान हो रहा है. कई लाभार्थियों को इंतजार करना पड़ रहा है. साथ ही कई लोगों के अपॉइंटमेंट्स भी कैंसिल हुई हैं. इंडिया टुडे से बातचीत में 23 वर्षीय करिश्मा ने कहा है कि वे काफी दिनों से वैक्सीन प्राप्त करने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन सफल नहीं हो सकी. उन्होंने कहा, 'मैंने अपॉइंटमेंट बुक किया था और खुद को 1 मई को सुबह 11-12:30 बजे के स्लॉट में रजिस्टर किया. लेकिन जब भी टीकाकरण शुरू होने वाला था, तो अखबार में आया कि वैक्सीन नहीं आई हैं. उसी दिन मेरे पास नोटिफिकेशन आया कि अपॉइंटमेंट कैंसिल हो गई है. मैं अभी भी नया स्लॉट हासिल करने की कोशिश कर रही हूं.'
    Published by:Nisarg Dixit
    First published: