• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • केंद्र ने राज्यों से मांगे ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों के आंकड़े, सदन में कर सकता है पेश: सूत्र

केंद्र ने राज्यों से मांगे ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों के आंकड़े, सदन में कर सकता है पेश: सूत्र

अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति का इलाज करते डॉक्टर. (सांकेतिक तस्वीर)

अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस से संक्रमित एक व्यक्ति का इलाज करते डॉक्टर. (सांकेतिक तस्वीर)

India Coronavirus Death: अप्रैल-मई में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के प्रकोप के चलते ऑक्सीजन की कमी से हो रही मौतों के मामले सामने आए थे.

  • Share this:

    नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने राज्यों से कोरोना वायरस की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी के चलते जान गंवाने वालों के आंकड़े मांगे हैं. सूत्रों ने मंगलवार को इस बात की जानकारी दी. ये आंकड़े 13 अगस्त को खत्म होने जा रहे संसद के मानसून सत्र से पहले सदन में पेश किए जा सकते हैं. बता दें अप्रैल-मई में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के प्रकोप के चलते ऑक्सीजन की कमी से हो रही मौतों के मामले सामने आए थे.

    हालांकि केंद्र सरकार ने मानसून सत्र की शुरुआत में ही सदन में कहा था कि उसकी जानकारी में देश में ऑक्सीजन की कमी के चलते एक भी मौत नहीं हुई है. सरकार के इस बयान की काफी आलोचना भी हुई थी. केंद्र सरकार (Central Government) ने मंगलवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) में बताया कि देश के कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus Second Wave) के दौरान किसी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में विशेष रूप से ऑक्सीजन की कमी के कारण मौत का कोई भी मामला सामने नहीं आया, लेकिन दूसरी लहर के दौरान मेडिकल ऑक्सीजन की मांग में अभूतपूर्व बढ़ोतरी हुई.

    कोरोना का तीन बार शिकार हुई डॉक्टर, दो बार वैक्सीन लेने के बाद हुआ संक्रमण

    सरकार के मुताबिक यह मांग पहली लहर में 3095 मीट्रिक टन की तुलना में लगभग 9000 मीट्रिक टन तक पहुंच गई, जिसके बाद केंद्र को राज्यों के बीच समान वितरण की सुविधा के लिए कदम उठाने पड़े. इस सवाल के जवाब में कि क्या दूसरी लहर में ऑक्सीजन की भारी कमी के कारण सड़कों और अस्पतालों में बड़ी संख्या में कोविड ​​​​-19 मरीजों की मौत हुई, स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने कहा कि स्वास्थ्य राज्य का विषय है और राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश नियमित रूप से केंद्र को कोरोना मामलों और उनसे हुई मौतों की संख्या को रिपोर्ट करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज