लाइव टीवी
Elec-widget

एमनेस्‍टी इंटरनेशनल के बेंगलुरु ऑफिस पर CBI का छापा, विदेशी फंडिंग में अनियमितता का आरोप

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 8:06 PM IST
एमनेस्‍टी इंटरनेशनल के बेंगलुरु ऑफिस पर CBI का छापा, विदेशी फंडिंग में अनियमितता का आरोप
इससे पहले एमनेस्टी इंटरनेशनल को ED ने भी नोटिस दिया था. फोटो. पीटीआई

सीबीआई टीम (cBI Team) ने विदेशी अंशदान विनियमन अधिनियम के उल्लंघन के आरोप में एमनेस्‍टी इंटरनेशनल (Amnesty International Group) के बेंगलुरु ऑफिस (Bengaluru) पर छापा मारा. एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप पर नियमों का उल्लंघन कर विदेशी फंडिंग हासिल करने का आरोप है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 8:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. सीबीआई ने मानवाधिकारों के लिए काम करने वाली संस्‍था एमनेस्‍टी इंटरनेशनल के बेंगलुरु दफ्तर पर शुक्रवार को छापा मारा. ये छापा विदेशों से मिलने वाली फंडिंग में अनियमितता के आरोप में मारा गया. एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप पर नियमों का उल्लंघन कर विदेशी फंडिंग हासिल करने का आरोप है.सीबीआई की ये रेड अभी चल रही है. एमनेस्‍टी इंटरनेशनल ने इस रेड के बारे में पुष्‍टि की है. साथ ही कहा, सीबीआई की टीम ने उनके दफ्तर की छानबीन की.

अपने बयान में एमनेस्‍टी इंटरनेशनल ने कहा, पिछले कुछ सालों में हर बार जब एमनेस्टी इंडिया मानवाधिकार के उल्‍लंघन के खिलाफ बोलती है शोषण का एक ही तरीका सामने आता है. एमनेस्टी इंडिया भारत और अंतर्राष्ट्रीय कानून का पूरी तरह से पालन करती है. भारत या कहीं और हमारा काम सार्वभौमिक मानव अधिकारों के लिए लड़ना और लड़ना है। ये वही मूल्य हैं जो भारतीय संविधान में निहित हैंये वही मूल्‍य हैं जो भारतीय संविधान में निहित हैं. बहुलवाद, सहिष्णुता, और असंतोष भारतीय परंपरा की समृद्ध परंपरा है.



पिछले साल अक्टूबर में प्रवर्तन निदेशालय ने (ईडी) ने एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया से जुड़े दो ठिकानों पर बेंगलुरु में जांच पड़ताल की थी. ये जांच विदेशी मुद्रा उल्लंघन के मामले में की गई थी. जांच एजेंसी के अनुसार, ये रेड प्रत्यक्ष विदेाशी निवेश नियमों के उल्लंघन के मामले में डाली गई थी. सितंबर में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एमनेस्टी इंटरनेशनल को कारण बताओ नोटिस जारी किया था. एमनेस्टी इंटरनेशनल को यह नोटिस विदेशी मुद्रा कानून के तहत कथित रूप से 51 करोड़ रुपये से ज्यादा के उल्लंघन के मामले में दिया गया था.
Loading...

इससे पहले केंद्रीय जांच एजेंसी ने पिछले साल भी विदेशी चंदा नियमन कानून (FCRA) के कथित उल्लंघन के आरोपों में संगठन के बेंगलुरु ऑफिस में छापेमारी की थी.

यह भी पढ़ें-

रेलवे का नियम: खाने के साथ नहीं मिला बिल, तो आपके लिए रहेगा बिल्कुल फ्री
संसद के शीतकालीन सत्र में पेश होगा डॉक्‍टरों पर हमले में 10 साल सजा वाला बिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 7:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...