केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- दिल्ली में रेलवे लाइन के किनारे से नहीं हटाएंगे 48 हजार झुग्गियां

केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- दिल्ली में रेलवे लाइन के किनारे से नहीं हटाएंगे 48 हजार झुग्गियां
2018 में दिल्ली हाई कोर्ट ने भी रेलवे ट्रैक के सेफ्टी जोन से झुग्गियों को हटाने का आदेश जारी किया था. (फाइल फोटो)

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने दिल्ली-एनसीआर में तीन महीने के अंदर लगभग 48,000 झुग्गी-झोपड़ियों (Slum Areas) को हटाने का आदेश दिया था. जिसके बाद रेलवे ने दिल्ली इलाके में झुग्गियों पर नोटिस भी चिपकाया दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 14, 2020, 3:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में रेलवे लाइन के किनारे रहने वाले 48 हजार झुग्गी वालों को केंद्र सरकार ने बड़ी राहत दी है. केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) को बताया है कि फिलहाल वह दिल्ली में रेलवे लाइन के किनारे बसी 48 हजार झुग्गियों (Slum Areas) को नहीं हटाएगी. केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा रेलवे, केंद्र और दिल्ली सरकार मिलकर बात करेंगे और चार हफ्ते में हल निकालेंगे.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-एनसीआर में तीन महीने के अंदर लगभग 48,000 झुग्गी-झोपड़ियों को हटाने का आदेश दिया था. जिसके बाद रेलवे ने दिल्ली इलाके में झुग्गियों पर नोटिस भी चिपकाया दिया था. बता दें कि यह नोटिस झुग्गियां खाली करने के लिए चिपकाया गया था. नोटिस के मुताबिक 14 सितंबर तक झुग्गियां खाली करने का अल्टीमेटम दिया गया था.

इसे भी पढ़ें :- रेलवे ने पटरियों किनारे बसीं 48 हजार झुग्गियों में लगाया नोटिस, 14 सितंबर तक खाली करने का निर्देश




बता दें कि हाल ही में अपने आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दिल्ली-एनसीआर में 140 किलोमीटर लंबी रेल पटरियों के आसपास बनी झुग्गियां हटाई जाएं. कोर्ट ने ये भी निर्देश दिया गया है कि कोई भी अदालत झुग्गी-झोपड़ियों को हटाने पर स्टे नहीं देगी. इस पूरे मामले पर अब केंद्र सरकार ने कहा है कि वह रेलवे और दिल्ली सरकार के साथ मिलकर इस मामले का हल ढूंढेंगे. केंद्र सरकार ने इसके लिए एक महीने का समय निर्धारित किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज